advertisements
advertisements

संघमित्रा माैर्य : बेटी के रोने पर भड़के स्वामी प्रसाद मौर्य ने की तल्ख टिप्पणी, कही ये बातें

बेटी के रोने पर भड़के स्वामी प्रसाद मौर्य ने की तल्ख टिप्पणी, कही ये बातें
UPT | Lucknow News

Apr 04, 2024 11:37

बदायूं में सीएम योगी आदित्यनाथ की सभा के दौरान बीजेपी सांसद संघमित्रा मौर्य के रोने का मामला सामने आया था। वहीं उनका रोते हुए एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसको लेकर बुधवार को उनके पिता...

Apr 04, 2024 11:37

Lucknow News : बदायूं में सीएम योगी आदित्यनाथ की सभा के दौरान बीजेपी सांसद संघमित्रा मौर्य के रोने का मामला सामने आया था। वहीं उनका रोते हुए एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसको लेकर बुधवार को उनके पिता और यूपी सरकार के पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने तल्ख टिप्पणी करते हुए गुस्सा जाहिर  किया। उन्होंने बेटी के रोने को लेकर कहा कि 'मुझे संघमित्रा को अपनी बेट कहने में शर्म आती है।' इसके साथ ही बेटी के रोने की घटना को लेकर कई बड़ी बातें कहीं।

मंच पर रोती दिखीं थी संघमित्रा मौर्य
बता दें कि बदायूं में सीएम योगी के साथ मंच पर सांसद संघमित्र मौर्य रोती हुई दिखी थीं। जिसके बाद बुधवार को उनके पिता यूपी सरकार के पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपनी बेटी भारतीय जनता पार्टी की नेता और बदायूं से सांसद संघमित्रा मौर्य को लेकर सख्त टिप्पणी की है। उन्होंने यह टिप्पणी संघमित्रा मौर्य का एक वीडियो वायरल होने पर की, जिसमें वह रोते हुई नजर आ रहीं थीं। स्वामी प्रसाद मौर्य ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि 'मुझे संघमित्रा को अपनी बेटी कहने में शर्म आती है। उसने मंच पर रोकर अपने पिता के चरित्र के विपरीत आचरण किया है। बेटी होने का मतलब ये नहीं कि उसकी गलतियां माफ हो गईं, रोना धोना ओछी और बचकानी बातें हैं।'

पिता ने कही ये बातें
इस मामले में उन्होंने कहा कि 'मुझे उसके टिकट कटने का कोई दुख नहीं। टिकट तो कटना ही था, मैंने उससे कहा कि उसे आरक्षण ख़त्म करने वाले दल के साथ नहीं खड़ा होना चाहिए। अनुसूचित जाति और जनजाति की राजनीति करने वाले लोग अगर उनका आरक्षण खत्म करने वालों के साथ खड़े हैं, तो इसे अच्छा नहीं कहा जा सकता। जो सांसद रह चुका है वो दूध पीता बच्चा नहीं है, उसे ख़ुद विवेक होना चाहिए। वहीं इस मामले में संघमित्रा मौर्य ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा था कि उनके बगल में बैठीं यूपी सरकार की मंत्री गुलाबो देवी ने उन्हें राजा दशरथ की एक कहानी सुनाई थी, जिससे वह भावुक हो गईं और उनकी आंखें नम हो गईं। संघमित्रा ने यह भी दावा किया कि वह टिकट कटने जैसी बातों से नाराज नहीं हैं। अगर ऐसा होता तो वह कार्यक्रम से दूरी बना लेतीं। 

Also Read

11 हजार दीप जलाकर लोगों को मतदान के लिए किया गया जागरूक

21 Apr 2024 12:47 AM

रायबरेली Loksabha Elections-2024 : 11 हजार दीप जलाकर लोगों को मतदान के लिए किया गया जागरूक

जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी हर्षिता माथुर ने कलेक्ट्रेट परिसर में बने वीवी पैट वेयरहाउस में  ईवीएम हॉल को जनपद के राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों की उपस्थित में निरीक्षण किया गया। और पढ़ें