Ropeway in Mathura : आसानी से देख सकेंगे श्रीकृष्ण की लीला स्थली, जल्द मिलेगी रोप-वे की सुविधा

आसानी से देख सकेंगे श्रीकृष्ण की लीला स्थली, जल्द मिलेगी रोप-वे की सुविधा
UPT | Ropeway facility will start soon in Barsana

Jun 14, 2024 03:19

तीर्थ यात्रियों को 180 से अधिक गहरी सीढ़ियां चढ़ना और उतरना पड़ता है। इससे लोगों को काफी कठिनाई भी होती है। इससे निजात दिलाने के लिए...

Jun 14, 2024 03:19

Short Highlights
  • रोप-वे की सुविधा शुरू होने से तीर्थयात्री बरसाना के उन स्थानों को देख सकेंगे जहां श्रीकृष्ण ने लीलाएं की थीं
  • बरसाना की रोप-वे सुविधा का ट्रायल 15 जून से शुरू होगा
  • वैष्णोदेवी मन्दिर से दारूल पार्किंग तक आठ स्टेशन बनाए जाएंगे
Mathura News : मथुरा में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने कि लिए बरसाना में ब्रह्माचल की पहाड़ियों में स्थित लाडली मंदिर के लिए रोप-वे की सुविधा शुरू की जाएगी। रोप-वे की सुविधा शुरू होने से तीर्थयात्री बरसाना के उन स्थानों को देख सकेंगे जहां श्रीकृष्ण ने लीलाएं की थीं। इस विषय में जानकारी देते हुए यूपी वज्र तीर्थ विकास परिषद के सूत्रों ने बताया कि यह योजना बरसाना और वृन्दावन जाने वाले तीर्थ यात्रियों एवं पर्यटकों को राहत देने के साथ-साथ उनकी यात्रा को और भी ज्यादा मनोरंजक बनाएगी। दरअसल, बरसाने का लाडली मन्दिर ब्रम्हाचल की पहाड़ियों पर स्थित है, इस वजह से तीर्थ यात्रियों को 180 से अधिक गहरी सीढ़ियां चढ़ना और उतरना पड़ता है। इससे लोगों को काफी कठिनाई भी होती है। इससे निजात दिलाने के लिए रोप-वे की सुविधा शुरू की जा रही है। 

15 जून से शुरू होगा ट्रायल
उत्तर प्रदेश व्रज तीर्थ विकास परिषद के सीईओ एस.बी. सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि बरसाना की रोप-वे सुविधा का ट्रायल 15 जून से शुरू होगा। लगभग 16 करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट में आने-जाने के लिए कुल 12 ट्रालियां एक साथ चलाई जाएंगी। जिसमें एक घंटे में 500 से अधिक लोग मन्दिर तक पहुंच सकेंगे। वहीं बिजली चली जाने पर इनका संचालन उच्च क्षमता के जनरेटर द्वारा किया जाएगा। साथ ही आंधी तूफान जैसी समस्या होने पर "रेस्क्यू टीम (सहायता टीम)" हर वक्त तैनात रहेगी। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि बरसाना आने वाले तीर्थ यात्रियों / पर्यटकों के लिए लाडली मन्दिर परिसर एवं मन्दिर के नीचे निःशुल्क प्रसाद (भोजन) की व्यवस्था प्रारंभ कर दी गई है।

इन मंदिरों के कर सकेंगे दर्शन
एस.बी. सिंह ने बताया कि वृन्दावन आने वाले तीर्थ यात्रियों को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने के लिए, रोप-वे के एक अभिनव प्रोजेक्ट पर सर्वे किया गया है। वहीं अब इसपर फीजिबिलिटी रिपोर्ट  तैयार की जा रही है। मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे के अंतर्गत आने वाले इस नेशनल रोप-वे की लंबाई 7.9 किलोमीटर होगी तथा इसमें वैष्णोदेवी मन्दिर से दारूल पार्किंग तक आठ स्टेशन बनाए जाएंगे। इस रोप-वे से बांके बिहारी मन्दिर, इस्कॉन, प्रेम मन्दिर, चन्द्रोदय मन्दिर एवं वैष्णोदेवी मन्दिर के दर्शन आसानी से कर सकेंगे। वैष्णोदेवी का स्टेशन सड़क पर ही मेट्रो स्टेशन की तर्ज पर बनाया जाएगा। जिसमें नीचे से सड़क यातायात सुचारू ढंग से चलता रहेगा। रोप-वे की इस योजना में एक बड़ा स्टेशन वैष्णोदेवी पर बनेगा जबकि दूसरा स्टेशन दारूल पार्किंग पर होगा। 

लगभग आधे घंटे में पहुंच सकेंगे
इसकी ट्रॉली या कन्डोला मोना केबिल डिटेचेबिल सद्धिांत पर काम करेगा। साथ ही ये रोप-वे 25 मीटर की ऊंचाई पर होगा और इसके जरिए 32 मिनट में एक छोर से दूसरे छोर पर पहुंचा जा सकेगा। इसकी स्पीड 6 मीटर/सेकेण्ड होगी। इसके अलावा इस प्रोजेक्ट के दूसरे चरण में कुछ अन्य मन्दिरों जैसे द्वारकाधीश मन्दिर, श्रीकृष्ण जन्मस्थान आदि को भी शामिल किया जाएगा। 

Also Read

लोक अदालत में खिले चेहरे, 13 जोड़ों ने पहनाई  एक दूजे को वर माला

13 Jul 2024 09:11 PM

फिरोजाबाद Firozabad News : लोक अदालत में खिले चेहरे, 13 जोड़ों ने पहनाई एक दूजे को वर माला

जनपद न्यायालय में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन आज  न्यायालय परिसर में सुबह 10 बजे से शुरू किया गया। इस मौके पर 2.75 लाख वादों के निस्तारण का लक्ष्य रखा गया है... और पढ़ें