advertisements
advertisements

संजय सिंह का मोदी कैबिनेट को लेकर तंज: बोले- मोदी मंत्रिमंडल में 'परिवारवाद' का पूरी तरह सफाया

बोले- मोदी मंत्रिमंडल में 'परिवारवाद' का पूरी तरह सफाया
सोशल मीडिया | सांसद संजय सिंह

Jun 11, 2024 09:54

विपक्ष के नेता जहां कई मंत्रियों का विभाग नहीं बदले जाने को लेकर इसे मोदी कैबिनेट के पुराने स्वरूप और कामकाज में बदलाव नहीं होने से जोड़ रहे हैं, वहीं परिवारवाद को लेकर भी तंज कसा गया है।

Jun 11, 2024 09:54

Short Highlights
  • मोदी कैबिनेट को लेकर विपक्ष ने हमला किया तेज
  • आप सांसद संजय सिंह ने मंत्रियों को लेकर उठाए सवाल
Lucknow News : मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल में मंत्रियों के विभागों का बंटवारा होने के बाद उन्होंने मंगलवार से पदभार ग्रहण करना शुरू कर दिया है। वहीं नई सरकार में मंत्रियों को लेकर विपक्ष की ओर से सियासत तेज हो गई है। विपक्ष के नेता जहां कई मंत्रियों का विभाग नहीं बदले जाने को लेकर इसे मोदी कैबिनेट के पुराने स्वरूप और कामकाज में बदलाव नहीं होने से जोड़ रहे हैं, वहीं परिवारवाद को लेकर भी तंज कसा गया है।

यूपी सहित कई राज्यों केे नेताओं को लेकर किया कटाक्ष
आम आदमी पार्टी के सांसद और उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने मंगलवार को सोशल मीडिया एक्स पर तंज कसा कि मोदी जी ने अपने मंत्रिमंडल में 'परिवारवाद' का पूरी तरह सफाया कर दिया। वाह मोदी जी वाह। संजय सिंह ने जयंत चौधरी और अनुप्रिया पटेल सहित कई मंत्रियों और उनके पिता का हवाला देते हुए मोदी सरकार पर परिवारवाद को लेकर निशाना साधा। 

परिवारवाद को लेकर हमलावर रही है भाजपा
भाजपा की ओर से अक्सर कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और अन्य विपक्षी दलों पर परिवारवाद की राजनीति के आरोप लगाए जाते रहे हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान भी इस तरह का माहौल दिखा। संजय सिंह ने इन्ही आरोपों को लेकर अब पलटवार किया है। हालांकि उन्होंने जिन मंत्रियों का नाम लिया है, वह काफी समय से राजनीति में सक्रिय हैं और इससे पहले भी विभिन्न पदों पर रह चुके हैं।

आप सांसद संजय सिंह ने इन मंत्रियों को लेकर साधा निशाना
  • पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा के पुत्र एचडी कुमारस्वामी
  • चौधरी चरण सिंह के पुत्र अजीत सिंह के पुत्र जयंत चौधरी
  • माधव राव सिंधिया के पुत्र ज्योतिरादित्य सिंधिया
  • रामविलास पासवान के पुत्र चिराग पासवान
  • बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर के पुत्र रामनाथ ठाकुर
  • पूर्व मुख्यमंत्री राव बीरेंद्र सिंह के पुत्र राव इंद्रजीत सिंह
  • टीडीपी से राम मोहन नायडू, स्वर्गीय येरन नायडू के पुत्र
  • वाजपेयी सरकार के पूर्व मंत्री वेद प्रकाश गोयल के पुत्र पीयूष गोयल
  • पूर्व मंत्री देवेंद्र प्रधान के पुत्र धर्मेंद्र प्रधान
  • जितेंद्र प्रसाद के पुत्र जितिन प्रसाद
  • सोनेलाल पटेल की पुत्री अनुप्रिया पटेल
  • रक्षा खडसे, एकनाथ खडसे की पुत्रवधू
  • कमलेश पासवान, स्वर्गीय ओम प्रकाश पासवान के पुत्र
  • शांतनु ठाकुर, मंत्री मंजुल कृष्ण ठाकुर के पुत्र
  • किरेन रिजिजू, अरुणाचल प्रदेश के पहले प्रोटेम स्पीकर के पुत्र
मंत्रियों को सौंपे गए मंत्रालय 
आप सांसद ने जिन मंत्रियों को लेकर परिवारवाद का आरोप लगाया है, उनमें एचडी कुमारस्वामी को भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय, ज्योतिरादित्य सिंधिया को संचार मंत्री और पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास, चिराग पासवान को खाद्य प्रसंस्करण, राम मोहन नायडू को नागरिक उड्डयन मंत्रालय, पीयूष गोयल का वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री, उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय, धर्मेंद्र प्रधान को शिक्षा मंत्रालय और किरेन रिजिजू संसदीय कार्य मंत्री व अल्पसंख्यक कार्य मंत्री का जिम्मा सौंपा गया है।

राज्य मंत्री(स्वतंत्र प्रभार) 
इसके अलावा राव इंद्रजीत सिंह को सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय, योजना मंत्रालय, संस्कृति मंत्रालय राज्य मंत्री- स्वतंत्र प्रभार, जयंत चौधरी को कौशल विकास और उद्यमिता का स्वतंत्र प्रभार और शिक्षा राज्य मंत्री तथा रामनाथ ठाकुर को कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री बनाया गया है।

इन्हें बनाया गया राज्य मंत्री
जितिन प्रसाद वाणिज्य और उद्योग, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री, अनुप्रिया पटेल स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री रक्षा खडसे को युवा मामले और खेल राज्य मंत्री, कमलेश पासवान को ग्रामीण विकास मंत्रालय राज्य मंत्री तथा शांतनु ठाकुर को बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग मंत्रालय राज्य मंत्री की जिम्मेदारी दी गई है।
 

Also Read

सीएम योगी ने मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव के पत्र पर उठाया कदम

13 Jun 2024 08:10 PM

लखनऊ टीकमगढ़ की प्यास बुझाएगा यूपी: सीएम योगी ने मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव के पत्र पर उठाया कदम

मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ शहर की पेयजल व्यवस्था के समाधान के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ललितपुर जनपद के जमरार बांध से 0.72 एमसीएम जल प्रदान करने पर सहमत हो गई है। और पढ़ें