LU Admission 2024 :  बिना एंट्रेंस एग्जाम दिए ले सकते हैं लखनऊ यूनिवर्सिटी में सीधे एडमिशन, ऐसे करें आवेदन

बिना एंट्रेंस एग्जाम दिए ले सकते हैं लखनऊ यूनिवर्सिटी में सीधे एडमिशन, ऐसे करें आवेदन
UPT | LU Admission 2024

Jul 11, 2024 13:24

लखनऊ विश्वविद्यालय में 25 जुलाई तक खाली सीटों के लिए आवेदन लिए जाएंगे। इसके बाद विवि की ओर से मेरिट लिस्ट जारी होगी। जिसके अनुसार प्रवेश होंगे।

Jul 11, 2024 13:24

Lucknow University Admission 2024 : उत्तर प्रदेश तकनीकी प्रवेश काउंसलिंग (UPTAC) 2024 से पहले, बीटेक, बीफार्मा और एमसीए के कोर्सों में रिक्त सीटों पर लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा सीधे प्रवेश दिया जाएगा। आवेदन प्रक्रिया शुरू करने के लिए उम्मीदवार विश्वविद्यालय की वेबसाइट से आवेदन पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। आवेदन भरने के बाद, उम्मीदवारों को वित्त नियंत्रक के नाम पर 500 रुपये का ड्राफ्ट बनवाना होगा और इसे 25 जुलाई तक विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता अभियांत्रिकीय व तकनीकी संकाय के कार्यालय में जमा करना होगा।

25 जुलाई तक होगा आवेदन
एलयू प्रवक्ता दुर्गेश श्रीवास्तव ने बताया कि 25 जुलाई तक खाली सीटों के लिए आवेदन लिए जाएंगे। इसके बाद विवि की ओर से मेरिट लिस्ट जारी होगी। जिसके अनुसार प्रवेश होंगे। एलयू में मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, सिविल, कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग और कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग एआई स्ट्रीम में बीटेक कराया जा रहा है।



आवेदन के लिए योग्यता
बीटेक में प्रवेश के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स में 12वीं पास होना जरूरी है। एमसीए में एडमिशन के लिए सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को कम से कम 55 प्रतिशत अंकों के साथ बीसीए या बीएससी कंप्यूटर साइंस या बीएससी आईटी डिग्री होना जरूरी है। जबकि बीफार्मा में प्रवेश के लिए साइंस ग्रुप से 12वीं परीक्षा पास होना चाहिए।

आवेदन के साथ जरूरी डॉक्यूमेंट
आवेदन साथ जमा करने के लिए हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की मार्कशीट और सर्टिफिकेट, एमसीए के लिए बीसीए या बीएससी की मार्कशीट और सर्टिफिकेट, लेटरल इंट्री के लिए इंजीनियरिंग डिप्लोमा की मार्कशीट और सर्टिफिकेट, और आरक्षण के लिए एक अप्रैल, 2024 के बाद का जाति प्रमाण पत्र जरूरी हैं। 

करनी होगी जेईई मेन्स 2024 में सफलता हासिल
लखनऊ विश्वविद्यालय में बीटेक, बीफार्मा और एमसीए में सीधे प्रवेश से विश्वविद्यालय को अनेक फायदे होंगे। रिक्त सीटें भरी जाएंगी, जिससे उसकी आय में वृद्धि होगी। साथ ही, कम रैंक वाले उम्मीदवारों को भी सुविधा मिलेगी और उन्हें विश्वविद्यालय में प्रवेश मिलने से इधर-उधर भटकने से बचाया जा सकेगा। बीटेक, बीफार्मा और एमसीए में सीधे प्रवेश के लिए उम्मीदवारों को जेईई मेन्स 2024, सीयूईटी यूजी या पीजी परीक्षा में सफलता हासिल करनी होगी।

Also Read

जापानी वनरोपण विधि से पर्यावरणीय स्थिरता की दिशा में कदम बढ़ा रहा प्राधिकरण

20 Jul 2024 06:45 PM

लखनऊ औद्योगिक वन स्थापित कर रहा यूपीसीडा : जापानी वनरोपण विधि से पर्यावरणीय स्थिरता की दिशा में कदम बढ़ा रहा प्राधिकरण

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप शनिवार को प्रदेश भर में सभी विभागों ने 'पेड़ लगाओ, पेड़ बचाओ' अभियान में... और पढ़ें