महायोजना 2031 में होंगे बदलाव : 12 जुलाई को बोर्ड बैठक के बाद तेजी से होगा काम

12 जुलाई को बोर्ड बैठक के बाद तेजी से होगा काम
UPT | master plan 2031

Jul 10, 2024 15:00

महायोजना में बदलाव शुरू किया गया और उसमें कई बड़े बदलाव करके दोबारा आपत्ति व सुझाव मांगे गए थे। करीब 290 नई आपत्तियां आने पर तीन से पांच जुलाई तक उन पर सुनवाई की गई। इसके बाद महायोजना में कुछ बदलाव की तैयारी की गई है...

Jul 10, 2024 15:00

Baghpat News : बागपत-बड़ौत-खेकड़ा विकास प्राधिकरण द्वारा जून 2022 में तैयार महायोजना-2031 ड्राफ्ट में जल्द ही बदलाव होने वाले हैं। जब जून 2022 में इसे तैयार किया गया था तो अगस्त 2022 के आखिर तक आपत्तियां व सुझाव मांगे गए थे। इसको लेकर 568 आपत्तियां मिली थीं, जिन पर तभी सुनवाई करके निस्तारण करके कमिश्नर की मुहर लगने के बाद शासन में भेजा गया था। जिसके बाद महायोजना में बदलाव शुरू किया गया और उसमें कई बड़े बदलाव करके दोबारा आपत्ति व सुझाव मांगे गए थे। करीब 290 नई आपत्तियां आने पर तीन से पांच जुलाई तक उन पर सुनवाई की गई। इसके बाद महायोजना में कुछ बदलाव की तैयारी की गई है।

12 जुलाई को होगी बोर्ड बैठक
मेरठ में कमिश्नर की अध्यक्षता में बोर्ड बैठक की तारीख भी तय हो गई है जो 12 जुलाई को होगी। उस बैठक से पहले बदलाव का प्रस्ताव तैयार किया जाएगा, जिससे उस पर मुहर लग सके और शासन को रिपोर्ट भेजी जा सके।

 ये होंगे बदलाव
 
  • खेकड़ा में ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे के पास से हरित पट्टी को हटाया जाएगा, महावतपुर के पास से ट्रांसपोर्ट नगर की जगह बदली जाएगी।
  • बड़ौत बाईपास की जगह में कुछ बदलाव होगा। क्योंकि प्रस्तावित जगह में कुछ शिक्षण संस्थान आ रहे हैं तो किसानों ने भी मांग उठाई थी। 
  • मैने बाईपास की जगह को लेकर आपत्ति दर्ज कराई थी। इसमें भी बदलाव हो सकता है। 
  •  काठा और मवीकलां के पास औद्योगिक क्षेत्र बढ़ना चाहिए था। ताकिऔद्योगिक क्षेत्र बढ़े तो यहां उद्यमियों को जमीन मिल सकेगी और उद्योग लगने के साथ ही युवाओं को रोजगार भी मिलेगा। 

Also Read

14 परियोजना के बिल्डर ने जमा कराई राशि, जानिए बैठक में और क्या हुए निर्णय

14 Jul 2024 01:52 AM

गौतमबुद्ध नगर Noida News : 14 परियोजना के बिल्डर ने जमा कराई राशि, जानिए बैठक में और क्या हुए निर्णय

शासनादेश लागू होने के बाद नए सिरे से गणना होने पर 5 परियोजना का बकाया शून्य हो गया था। ऐसे में अभी तक 16 परियोजना के बिल्डर बकाया जमा करने के लिए आगे नहीं आए हैं। और पढ़ें