बदलता उत्तर प्रदेश : RRTS कॉरिडोर के किनारे बसेगा नया गाजियाबाद, ये है जीडीए का हाईटेक प्लान

RRTS कॉरिडोर के किनारे बसेगा नया गाजियाबाद, ये है जीडीए का हाईटेक प्लान
UPT | गाजियाबाद।

Jul 12, 2024 02:47

नया गाजियाबाद मे सभी तरह की सुविधाएं विकसित की जाएंगी। नए गाजियाबाद में स्कूल, कॉलेज, अस्पताल और माॅल बनाए जाएंगे। 

Jul 12, 2024 02:47

Short Highlights
  • गाजियाबाद विकास प्राधिकरण की बोर्ड बैठक में रखा जाएगा प्रस्ताव
  • रैपिड रेल कॉरिडोर के दोनों ओर जीडीए जमीन खरीदकर काटेगा भूखंड 
  • मुख्यमंत्री शहरी विस्तारीकरण/नए शहर प्रोत्साहन योजना के तहत होगा काम 
Ghaziabad News : एनसीआर में तेजी से बढ़ती आबादी और बाहर से आकर रह रहे लोगों को मकान दिलाने का सपना जीडीए जल्द ही पूरा करेगा। इसके लिए गाजियाबाद विकास प्राधिकरण रैपिड रेल कॉरिडोर के पास नया गाजियाबाद बनाने की योजना पर काम कर रहा है। इसके लिए जीडीए ने हाईटेक प्लान तैयार किया है। सब कुछ ठीक रहा तो जीडीए की बोर्ड बैठक में प्रस्ताव रखा जाएगा। प्रस्ताव पास होने के बाद इस पर तेजी से काम शुरू किया जा सकेगा।  नया गाजियाबाद रैपिड रेल काॅरिडोर से तीन किलोमीटर की दूरी पर बसाया जाएगा। इसके लिए जीडीए किसानों से जमीन खरीदेगा और उस पर भूखंड काटकर बेचेगा। नया गाजियाबाद मे सभी तरह की सुविधाएं विकसित की जाएंगी। नए गाजियाबाद में स्कूल, कॉलेज, अस्पताल और माॅल बनाए जाएंगे। 

50 प्रतिशत रकम प्रदेश सरकार बाकी जीडीए
नया गाजियाबाद बसाने के लिए जमीन खरीद के लिए 50 प्रतिशत रकम प्रदेश सरकार देगी। जबकि बाकी का इंतजाम जीडीए को करना होगा। इसके लिए मुख्यमंत्री शहरी विस्तारीकरण/नए शहर प्रोत्साहन योजना के तहत काम किया जा रहा है। गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने इसके लिए रैपिड रेल काॅरिडोर के आसपास जमीन चिन्हित करना शुरू किया है। 

टीओडी जोन को  पहले से ही मंजूरी
बता दें काॅरिडोर के पास ट्रांजिट ओरिएंटेड डेवेलपमेंट (टीओडी) जोन बनाकर माॅल, मल्टीप्लेक्स, रेस्तरां खोले जाने की योजना को पहले ही मंजूरी दी जा चुकी है। अब इसे और विस्तार देते हुए नया गाजियाबाद योजना पर काम शुरू किया गया है। इसके प्रस्ताव की मंजूरी को शासन के पास भेजा जाएगा।

बिल्डरों ने नए शहर के ना पर प्रोजेक्ट किए शुरू 
गाजियाबाद के बिल्डरों ने नए शहर के नाम पर अपने प्रोजेक्ट पहले से शुरू कर दिए हैं। इनमें बड़ी संख्या में लोग रहने लगे लेकिन गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ऐसी कोई बड़ी आवासीय योजना नहीं ला पाया है। इसकी वजह मधुबन बापूधाम योजना का सफल ना होना भी रही। इस समय जीडीए का खजाना भी पूरी तरह से खाली चल रहा था।

जीडीए ने देरी से शुरू किया काम 
प्रदेश में नया शहर बनाने के लिए नगर विकास विभाग की ओर से 2023-24 में छह विकास प्राधिकरणों से प्रस्ताव मांगा गया था। इनमें अलीगढ़, गोरखपुर ने अपना प्रस्ताव भेज दिया और बोर्ड बैठक में मुहर लग गई। इसके लिए दोनों शहरों को पहली किस्त जारी हो गईं है। इसमें गोरखपुर के लिए 2000 करोड़ और अलीगढ़ के 350 करोड़ रुपये का बजट पास हुआ है। लेकिन गाजियाबाद में प्रस्ताव पर काम अब शुरू हुआ है।

बोर्ड बैठक में रखा जाएगा प्रस्ताव
जीडीए के उपाध्यक्ष अतुल वत्स ने बताया कि शासन के निर्देश पर प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। प्रस्ताव को एजेंडे में शामिल कर लिया गया है। आगामी बोर्ड बैठक में प्रस्ताव को मंडलायुक्त के समक्ष पेश किया जाएगा। नए गाजियाबाद में साइबर सिटी और वाणिज्यिक केंद्र बनाए जाएंगे। आवासीय और व्यावसायिक प्लॉट काटे जाएंगे। लोगों को ई-व्हीकल की भी सुविधा मिलेगी। उम्मीद है कि इस योजना से प्राधिकरण की आय में इजाफा होगा। 

Also Read

हापुड़ में एसपी और एएसपी के बाद अब कोतवाली प्रभारी का भी हुआ तबादला

18 Jul 2024 12:22 AM

हापुड़ Hapur News : हापुड़ में एसपी और एएसपी के बाद अब कोतवाली प्रभारी का भी हुआ तबादला

मेडिकल कॉलेज प्रबंधन की शिकायत पर शासन ने मंगलवार देर रात को एसपी अभिषेक वर्मा और एएसपी राजकुमार अग्रवाल को हटा दिया था। उनको मुख्यालय से अटैच किया गया था। और पढ़ें