हापुड़ में ग्राम प्रधान के प्रशासनिक और वित्तीय अधिकार सीज : घोटाले में दोषी पाए जाने पर डीएम ने की कार्रवाई 

घोटाले में दोषी पाए जाने पर डीएम ने की कार्रवाई 
UPT | डीएम हापुड़

Jul 09, 2024 14:20

असौड़ा गांव की प्रधान आयशा मुर्तजा लंबे समय से विवादों में थी, उन पर सरकारी धन और संपत्ति के दुरुपयोग के आरोप लग रहे थे। घोटाले में दोषी पाए जाने पर जिले के थाना देहात क्षेत्र के गांव असाैड़ा की ग्राम प्रधान के अधिकार सीज कर दिए है।

Jul 09, 2024 14:20

Short Highlights
  • ग्राम प्रधान के अधिकार सीज
  • ग्राम प्रधान के परिवारों पर भी घपले के आरोप
Hapur News : घोटाले में दोषी पाए जाने पर जिले के थाना देहात क्षेत्र के गांव असाैड़ा की ग्राम प्रधान के अधिकार सीज कर दिए है। डीएम ने जांच रिपोर्ट के आधार पर उसके वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार सीज कर दिए हैं। अब वह गांव में प्रधान के रूप में किसी कार्य का संचालन नहीं कर पाएंगी। वही गांव में व्यवस्था संभालने के लिए कमेटी का गठन किया जाएगा। इसके लिए बीडीओ को नामित किया गया है। जांच टीम ने ग्राम प्रधान के खिलाफ मिलने वाली शिकायतों के साक्ष्य एकत्र करके अपनी रिपोर्ट डीएम को सौंप दी थी। 

क्या है पूरा मामला 
दरअसल, असौड़ा गांव की प्रधान आयशा मुर्तजा लंबे समय से विवादों में थी, उन पर सरकारी धन और संपत्ति के दुरुपयोग के आरोप लग रहे थे। ग्राम प्रधान के साथ ही उनके परिवार के लोगों पर भी घपले के आरोप लगे थे। पिछले दिनों ही भूसा ले जाने का एक वीडियो प्रसारित हुआ था, उसमें गांव की गोशाला के गोवंशों का भूसा चोरी करने का आरोप लगा था। जिसके बाद सीडीओ ने जांच कमेटी गठित की थी, इसके साथ ही पिछले दिनों असौड़ा की जाहिदा खान, परवीन बेगम, गोपाल सिंह, सविता सैनी और बबीता ने ग्राम प्रधान आयशा मुर्तजा के खिलाफ शिकायत की थी। उन्होंने शपथ पत्र देकर ग्राम प्रधान पर घपले के आरोप लगाए थे। मामले में डीएम ने जांच टीम का गठन किया था। डीएम के आदेश पर जिला ग्रामोद्योग अधिकारी और मध्य गंग नहर के सहायक अभियंता ने जांच शुरू की थी। जांच में ग्राम प्रधान पर घपले के आरोप सही पाए गए। 

अधिकारियों का बयान 
वहीं जिला पंचायतराज अधिकारी एसबी शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि कमेटी का गठन किया जाएगा। डीएम ने असौड़ा की ग्राम प्रधान आयशा मुर्तजा के वित्तीय और प्रशासनिक अधिकार सीज कर दिए गए हैं। अब वह प्रधान के रूप में किसी दायित्व का निर्वहन नहीं कर पाएंगी। अब गांव में ग्राम पंचायत के कार्यों का संचालन कमेटी करेगी। इसके लिए बीडीओ को निर्देशित किया गया है। बीडीओ कमेटी का गठन करके डीएम को सौंपेंगे। 

यह आरोप पाए गए सही 

-स्ट्रीट लाइट फाइलों में लगी मिली, जबकि टीम को मौके पर लगी हुई नहीं मिली। 

-गोशाला का विद्युत मोटर वहां से उठवाकर बेच दिया गया। 

-2.49 लाख रुपये कूड़ाघर के निर्माण पर खर्च कर दिए गए, जबकि कहीं पर कूड़ाघर बनाया ही नही गया। 

-नलों के रीबोर करने में नया सामान लगाने का दावा किया गया, जबकि उनके पुराना सामान लगाया गया। 

-गांव में लगाए गए चैनल को उखड़वाकर बेच दिया गया। उनका कोई हिसाब फाइलों में नहीं मिला।
 

Also Read

अवैध निर्माण पर प्राधिकरण सख्त, बिल्डर को अंतिम नोटिस

20 Jul 2024 05:29 PM

गौतमबुद्ध नगर नोएडा जेपी अमन सोसायटी में चलेगा बुलडोजर : अवैध निर्माण पर प्राधिकरण सख्त, बिल्डर को अंतिम नोटिस

नोएडा एक्सप्रेसवे के निकट सेक्टर-151 स्थित जेपी अमन सोसायटी में एक विवाद ने तूल पकड़ लिया है। अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन (एओए) और बिल्डर के बीच अस्थायी कार्यालय को लेकर चल रहे विवाद के बीच, नोएडा प्राधिकरण ने मामले में हस्तक्षेप किया है। और पढ़ें