काजू बताकर गांजे का किया सप्लाई : मेरठ जिले का कोरियर बताकर भेजा था पार्सल, राजस्थान पुलिस के सहयोग से हुआ खुलासा 

मेरठ जिले का कोरियर बताकर भेजा था पार्सल, राजस्थान पुलिस के सहयोग से हुआ खुलासा 
UPT | कोतवाली गढमुक्तेश्वर

Jul 10, 2024 20:27

थाना गढ़मुक्तेश्वर पुलिस द्वारा इस अंतर्राज्यीय गिरोह के 03 सदस्यों को पूर्व में गिरफ्तार किया जा चुका है। जिनके कब्जे से कुल 113 किलोग्राम अवैध हुआ था और अब 90 किलो गांजा बरामद किया गया है। गढमुक्तेश्वर कोतवाली पुलिस ने राजस्थान पुलिस के सहयोग से कोरियर द्वारा काजू मंगाने के नाम पर अवैध गांजे की हो रही तस्करी का पर्दाफाश कर दिया है।

Jul 10, 2024 20:27

Short Highlights
  • अवैध गांजे की हो रही तस्करी का पर्दाफाश
  • राजस्थान पुलिस के सहयोग से खुलासा
Hapur News : गढमुक्तेश्वर कोतवाली पुलिस ने राजस्थान पुलिस के सहयोग से कोरियर द्वारा काजू मंगाने के नाम पर अवैध गांजे की हो रही तस्करी का पर्दाफाश कर दिया है। पुलिस कार्रवाई करते हुए करीब 90 किलोग्राम अवैध गांजा किया बरामद किया है। तीनों तस्करों को गिरफ्तार पूर्व में हो चुकी है। 

क्या है पूरा मामला 
दरअसल, थाना गढ़मुक्तेश्वर पुलिस द्वारा इस अंतर्राज्यीय गिरोह के 03 सदस्यों को पूर्व में गिरफ्तार किया जा चुका है, जिनके कब्जे से कुल 113 किलोग्राम अवैध हुआ था और अब 90 किलो गांजा बरामद किया गया है। पुलिस के मुताबिक अंतर्राज्यीय गिरोह से अब तक कुल 203 किलोग्राम अवैध गांजा बरामद किया जा चुका है। थाना प्रभारी निरीक्षक मुनेश प्रताप सिंह द्वारा बताया गया कि आरोपियों द्वारा कुछ गांजा उडीसा से कोरियर के माध्यम से काजू के नाम पर मेरठ जिले के लिए मंगाया गया था,मगर आरोपियों के जेल जाने के बाद उनके उडीसा के साथियों से सम्पर्क ना होने के कारण गांजे का पार्सल मेरठ पहुंचने से पहले ही पार्सल को राजस्थान प्रदेश की कोटपूतली के लिए डायर्वट करा दिया गया था, जिसको गढमुक्तेश्वर पुलिस द्वारा तत्परता से ट्रेस कर कोटपूतली बहरोड जिले की थाना नीमराणा (राजस्थान) पुलिस के सहयोग से बरामद किया है।

अभी तक 113 किलो गांजा बरामद
पुलिस ने बताया कि इस गिरोह की जड़े विभिन्न राज्यों उड़ीसा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा आदि में थी और इन राज्यों में बड़े स्तर पर अवैध गांजे की तस्करी कर आर्थिक लाथ कमाते थे। गढ़ इंस्पेक्टर मुनेश प्रताप सिंह ने बताया कि पूर्व में तीन तस्करो को गिरफ्तार कर 113 किलो गांजा बरामद किया जा चूका था। काजू के नाम पर मेरठ जिले के लिए मंगाया गया था, मगर आरोपियों के जेल जाने के बाद उनके उडीसा के साथियों से सम्पर्क ना होने के कारण गांजे का पार्सल मेरठ पहुंचने से पहले ही पार्सल को राजस्थान प्रदेश की कोटपूतली के लिए डायर्वट करा दिया गया था।

Also Read

14 परियोजना के बिल्डर ने जमा कराई राशि, जानिए बैठक में और क्या हुए निर्णय

14 Jul 2024 01:52 AM

गौतमबुद्ध नगर Noida News : 14 परियोजना के बिल्डर ने जमा कराई राशि, जानिए बैठक में और क्या हुए निर्णय

शासनादेश लागू होने के बाद नए सिरे से गणना होने पर 5 परियोजना का बकाया शून्य हो गया था। ऐसे में अभी तक 16 परियोजना के बिल्डर बकाया जमा करने के लिए आगे नहीं आए हैं। और पढ़ें