Darul Uloom News : तीन तलाक मामले में दारुल उलूम का बड़ा एलान, फतवा जारी करने पर लगाई पाबंदी

तीन तलाक मामले में दारुल उलूम का बड़ा एलान, फतवा जारी करने पर लगाई पाबंदी
UPT | दारुल उलूम में तीन तलाक पर बिना आईडी के किसी भी सवाल पर फतवा जारी पर रोक

Jun 10, 2024 17:57

यूपी के देवबंद स्थित दारुल उलूम में तीन तलाक पर बिना आईडी के किसी भी सवाल पर फतवा जारी पर रोक लगा दी गई है। दारुल उलूम ने ये एलान किया है।

Jun 10, 2024 17:57

Short Highlights
  • मुस्लिम महिलाओं के आईब्रो ना बनवाने और नेलपालिश लगाने पर फतवा
  • महिलाओं को सोशल मीडिया पर फोटो डालने को बताया नाजायज
  • अब दारुल उलूम से बिना आईडी किसी भी सवाल पर फतवा जारी पर प्रतिबंध 
Triple Talaq Fatwa : एक बार फिर से इस्लाम की सर्वोच्च संस्था दारुल उलूम चर्चाओं में है। इस बाद यूपी के देवबंद स्थित दारुल उलूम में तीन तलाक पर बिना आईडी के किसी भी सवाल पर फतवा जारी पर रोक लगा दी गई है। दारुल उलूम ने ये एलान किया है। इसी के साथ ही दारुल उलूम ने महिलाओं को नेल पाॅलिश लगाने को नाजायज करार दिया है। दारुल उलूम ने सोशल मीडिया पर फोटो डालने को भी नाजायज बताया। बता दें दारुल उलूम के कई फतवे चर्चा का विषय बन जाते हैं। दारुल उलूम के इस तरह के जारी फतवे बहस के साथ ही समाजिक मुददा भी बनते रहे हैं। 

दारुल उलूम ने तीन तलाक पर बिना आईडी के किसी सवाल पर फतवा देने पर पाबंदी
लेकिन अब देवबंद स्थित दारुल उलूम ने तीन तलाक पर बिना आईडी के किसी सवाल पर फतवा देने पर पाबंदी लगाई है। केंद्र सरकार ने तीन तलाक को 30 जुलाई 2019 को असांविधानिक घोषित करते हुए इसे दंडनीय अधिनियम बनाया था। इसके बाद विश्व भर में इस्लामी तालीम के प्रमुख केंद्र यूपी के दारुल उलूम में तीन तलाक पर कई फतवे जारी किए गए थे। 

दारुल उलूम के ऑनलाइन फतवा विभाग से तीन तलाक से संबंधित पूछे सवाल
दारुल उलूम के ऑनलाइन फतवा विभाग से तीन तलाक से संबंधित सवाल पूछे जाते रहे हैं। मोहतमिम मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी ने बताया कि अब बिना आईडी के तीन तलाक पर सवाल पूछने वालों को कोई जवाब नहीं दिया जाएगा। अब वास्तविक आईडी वाले व्यक्ति के सवाल पर वाजिब जवाब दिया जाएगा। बता दें, कि दारुल उलूम में 2005 में ऑनलाइन फतवा विभाग शुरू किया था। जिससे देश-विदेश से बड़ी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग दारुल उलूम के मुफ्तियों से सवाल पूछते हैं। 

बहस का मुद्दा बने दारुल उलूम के चर्चित फतवे
दारुल उलूम द्वारा जारी किए गए कई फतवे सुर्खियों में रहे हैं। जिसका खुद मुस्लिम महिलाएं भी विरोध कर चुकी हैं। ऐसे ही एक फतवा दारुल उलूम द्वारा जारी किया गया था जो कि मुस्लिम महिलाओं को नेल पॉलिश नहीं लगाने के लिए था। महिलाओं को नाखून पर नेल पॉलिश की बजाय मेहंदी का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई थी। दारुल उलूम ने नेल पॉलिश को गैर इस्लामिक करार दिया था।

वैक्सिंग या बाल कटवाना गैर इस्लामिक माना गया
दारुल उलूम ने एक अन्य फतवे में कहा था ​कि मुस्लिम महिलाओं को आईब्रो नहीं बनवाना चाहिए। आईब्रो बनवाना, वैक्सिंग या बाल कटवाना गैर इस्लामिक माना गया है। इसके अलावा चुस्त व तंग बुर्का और लिबास पहनने को भी दारुल उलूम ने नाजायज बताया था। इसी तरह दारुल उलूम ने एक अन्य फतवे में कहा था कि गैर मर्द का अजनबी महिलाओं को चूड़ी पहनाना गुनाह है। सोशल मीडिया पर महिलाओं की फोटो डाले जाने को दारुल उलूम नाजायज बता चुका है।  

Also Read

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी की कार्रवाई, कीमत 4000 करोड़ से ज्यादा

14 Jun 2024 06:51 PM

सहारनपुर ग्लोकल यूनिवर्सिटी की संपत्ति जब्त : मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी की कार्रवाई, कीमत 4000 करोड़ से ज्यादा

सहारनपुर में अवैध खनन के आरोपियों पर प्रवर्तन निदेशालय ने बड़ी कार्रवाई की है। ईडी ने ग्लोकल यूनिवर्सिटी की संपत्ति जब्त कर ली है। इसकी कीमत कीमत 4 हजार करोड़ से ज्यादा है। और पढ़ें