Mathura News : वृंदावन की बृजरज की खुली बिक्री को लेकर संतों में आक्रोश, जानिए क्या है मामला...

वृंदावन की बृजरज की खुली बिक्री को लेकर संतों में आक्रोश, जानिए क्या है मामला...
UPT | दुकान पर खरीदारी करते हुए

Jun 12, 2024 01:13

किसी संत द्वारा लिखा गया यह पद मुक्ति कहे गोपाल सौं मेरी मुक्ति बताए ब्रजरज उड़ मस्तक लगे मुक्ति मुक्ति है जाए, ब्रजरज की अटूट महिमा का वर्णन करता है। ब्रजरज में आकर हर कोई मुक्ति पाना चाहता है...

Jun 12, 2024 01:13

Mathura News : किसी संत द्वारा लिखा गया यह पद मुक्ति कहे गोपाल सौं मेरी मुक्ति बताए ब्रजरज उड़ मस्तक लगे मुक्ति मुक्ति है जाए, ब्रजरज की अटूट महिमा का वर्णन करता है। ब्रजरज में आकर हर कोई मुक्ति पाना चाहता है, ताकि उसके द्वारा जीवन में किसी भी तरह के जाने अनजाने किए गए पाप से मुक्ति मिल सके। ब्रजरज की इस महान एवं अटूट महिमा को आज के समय में कुछ लोगों द्वारा ब्रजरज को अपने व्यापार का एक साधन बना लिया है। 

ब्रजरज की ऑनलाइन की जा रही बिक्री 
मुक्ति की इसी भावना के साथ देश-विदेश से लाखों भक्त अपने जीवन के अंतिम पड़ाव में ब्रज में आकर बृजवास करते हैं। लेकिन ब्रजरज की इस महान एवं अटूट महिमा को आज कुछ बिजनेस माइंडेड लोगों द्वारा ब्रजरज को अपने व्यापार का एक साधन बना लिया है। इन दोनों एक व्यापारिक सोशल साइट पर ब्रजरज की ऑनलाइन बिक्री की जा रही है। जिसमें 100 ग्राम, 200 ग्राम, 400 ग्राम एवं 1 किलो तक के पैकेट ऑनलाइन बेचे जा रहे हैं। जिसकी कीमत 3 हजार रुपए प्रति किलो तक रखी गई है। वही वृंदावन के बाजार में भी पोशाक एवं कंठी माला की दुकानों पर ब्रजरज के इस पैकेट की बिक्री धड़ले से हो रही है।

दुकानदारों की अलग-अलग प्रतिक्रिया 
कंठी माला के पुराने व्यावसाई नारायणदास अग्रवाल ने बताया कि उनके द्वारा अपने यहां से कभी भी ब्रजरज की बिक्री नहीं की गई। न ही वह किसी को इसकी सलाह देंगे। जो भी लोग ऑनलाइन या दुकानों पर ब्रजरज के पैकेट की बिक्री कर रहे हैं, वह गलत है। बताया कि यदि कोई उनके पास ब्रजरज मांगने आता है, तो वह उन्हें निधिवन सेवाकुंज या फिर यमुना जी जाने के लिए कह देते हैं। वहीं दुकानदार विकास अग्रवाल ने बताया कि उनके यहां ब्रजरज के पैकेट मिलते हैं, लेकिन वह इसे बेचते नहीं है, बल्कि सिर्फ पैकिंग चार्ज लेकर पैकेट किसी भी भक्त या ग्राहक को दे देते हैं।
 
संत समाज में रोष
वहीं इस मामले में जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर स्वामी योगी नवल गिरि ने कहा कि ब्रजराज की अपनी अलग महिमा है। इसे व्यापार बनाना पूरी तरह से गलत है और ब्रज वृंदावन की महिमा के विरुद्ध है। यदि कोई व्यक्ति ऑनलाइन या दुकानों पर इस तरह के पैकेट बनाकर ब्रजरज की बिक्री कर रहा है, तो ऐसे लोगों के खिलाफ शासन प्रशासन को कठोर कार्रवाई करनी चाहिए। वहीं संत समाज एवं बृजवासी भी ऐसे व्यापारियों का पुरजोर विरोध करेंगे।

Also Read

कई महत्वपूर्ण प्रस्ताव सहमति के साथ पास किए गए

14 Jun 2024 11:24 PM

आगरा मंडलायुक्त की अध्यक्षता में सलाहकार समिति की 37वीं बैठक : कई महत्वपूर्ण प्रस्ताव सहमति के साथ पास किए गए

भगवान टॉकीज से प्रतापपुरा चौराहा होते हुए रमाडा फ्लाईओवर तक लगभग 1.40 करोड़ की लागत से थीम पेटिंग का कार्य, मैट्रो ट्रैक के नीचे लगभग 3 करोड़ की लागत से फसाड़ लाईटिंग के प्रस्ताव को स्वीकृति दी गयी... और पढ़ें