advertisements
advertisements

नजर आया चांद : दरगाह आला हजरत से बकरीद का ऐलान, 17 जून को ईद-उल-अजहा

दरगाह आला हजरत से बकरीद का ऐलान, 17 जून को ईद-उल-अजहा
UPT | दरगाह आला हजरत।

Jun 10, 2024 21:54

दरगाह से जारी पैगाम में कहा गया है कि 17 जून को ईद-उल-अजहा मनाई जाएगी। 8 जून को इस्लामिक कैलेंडर के जिलहज्जा महीने की पहली तारीख थी। उसी दिन चांद नजर आया था। अब जिलहज्जा की दस तारीख को ईद मनाई जाती है, जो इस बार 17 जून को पड़ रही है।

Jun 10, 2024 21:54

Bareilly News : दरगाह आला हजरत के मरकजी दारूल इफ्ता से ईद-उल-अजहा (बकरीद) का सोमवार को ऐलान हो गया है। ईद-उल-अजहा 17 जून को होगी। लेकिन इससे पहले कुर्बानी के लिए बकरों की खरीदारी शुरू हो गई है। शहर से लेकर देहात तक ईद की तैयारियां चल रही हैं। सुन्नी बरेलवी मुसलमानों के मरकज (मुख्य केंद्र) दरगाह आला हजरत से ईद-उल-अजहा की तारीख का ऐलान हो गया।

दरगाह से जारी पैगाम में कहा गया है कि 17 जून को ईद-उल-अजहा मनाई जाएगी। 8 जून को इस्लामिक कैलेंडर के जिलहज्जा महीने की पहली तारीख थी। उसी दिन चांद नजर आया था। अब जिलहज्जा की दस तारीख को ईद मनाई जाती है, जो इस बार 17 जून को पड़ रही है। ईद-उल-अजहा की नमाज अदा करने के बाद कुर्बानी का दौर शुरू होगा। यह तीन दिन तक चलता है। कुर्बानी की रस्म हजरत इब्राहीम अलैहिस्सलाम ने अपने बेटे हजरत इस्माईल अलैहिस्सलाम को खुदा की राह में कुर्बान करने के इरादे से की थी। है। इसी जज्बे और इरादे का इजहार करने के लिए मुसलमान कुर्बानी की रस्म अदा करता है।ईद-उल-अजहा की ये तारीख केवल  बरेली क्षेत्र के लिए है। मगर, बाकी शहरों और जिलों के लोग अपने यहां के शहर काजी के ऐलान पर अमल करें।

कुर्बानी के लिए बकरों की खरीदारी शुरू
शहर से लेकर देहात तक बकरों और कुर्बानी के जानवरों की खरीदारी शुरू हो गई है। इसके साथ ही बाजार में सेवई भी आ गई है। बाजार में भी सेवई की बिक्री शुरू हो गई है। 

Also Read

अब घर बैठे टैक्स जमा कर सकते हैं ग्राहक, मिलेगी इतनी प्रतिशत की छूट

13 Jun 2024 01:49 AM

बरेली बरेली नगर निगम : अब घर बैठे टैक्स जमा कर सकते हैं ग्राहक, मिलेगी इतनी प्रतिशत की छूट

नगर निगम ने टैक्स जमा करने के पुराने सॉफ्टवेयर को अपडेट कर दिया है। इससे शहर वासियों को घर बैठे तमाम सुविधा मिलेंगी। नगर निगम शहर की जनता को छूट के साथ घर बैठकर टैक्स जमा करने की सुविधा देने जा रहा है। और पढ़ें