Gorakhpur News : तेजी से बढ़ रहा राप्ती नदी का जलस्तर, कई घरों में घुसा बाढ़ का पानी, दहशत में लोग 

तेजी से बढ़ रहा राप्ती नदी का जलस्तर, कई घरों में घुसा बाढ़ का पानी, दहशत में लोग 
UPT | कई इलाकों में घुसा बाढ़ का पानी।

Jul 10, 2024 12:40

पूर्वांचल में लगातार हो रही बारिश और नेपाल से पानी छोड़े जाने के बाद कई प्रमुख नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी देखी जा रही है। गोरखपुर के राप्ती नदी का जलस्तर खतरे के निशान के बिल्कुल क़रीब पहुंच...

Jul 10, 2024 12:40

Gorakhpur News : पूर्वांचल में लगातार हो रही बारिश और नेपाल से पानी छोड़े जाने के बाद कई प्रमुख नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी देखी जा रही है। गोरखपुर के राप्ती नदी का जलस्तर खतरे के निशान के बिल्कुल क़रीब पहुंच चुका है। आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार राप्ती नदी का जलस्तर 74.84 मीटर रिकॉर्ड किया गया। हर घंटे जलस्तर 3 से 4 इंच बढ़ रहा है। इससे लोग दहशत में हैं। 

घरों तक पहुंच रहा बाढ़ का पानी
कुआनो, घाघरा, रोहिणी और राप्ती नदियों के जलस्तर बढ़ने से नदियों के किनारे रहने वाले लोगों के घरों के पास पानी पहुंच रहा है। नदियों के किनारे बसे शहर समेत कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। सैकड़ों एकड़ फसल जलमग्न हो गई है। नेपाल के तरफ से 04 लाख 40 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया है, जिससे गोरखपुर क्षेत्र के कई शहर और गांव प्रभावित हैं।

जिले की सभी नदियां उफान पर 
गोरखपुर में बाढ़ से हालत लगातार बिगड़ती जा रही है। शहर से लेकर गांव तक कई इलाका पानी में डूब चुके हैं। लगातार बढ़ रहे जलस्तर के खौफ से लोगों ने पलायन करना शुरू कर दिया है। पूरा गांव या तो बांधों पर शरण ले रहा है या फिर पक्के मकान वाले अपनी छतों पर पनाह ले रहे हैं। जिले की सभी नदियां उफान पर हैं।

मौसम विभाग ने किया खबरदार
मौसम वैज्ञानिक डॉ. कैलाश पांडेय का कहना है कि फिलहाल गोरखपुर और आसपास के जिलों में मौसम ऐसा ही रहेगा। आज भी गोरखपुर सहित कई इलाकों में गरज के साथ भारी वर्षा हो सकती है। जबकि इस दौरान कई जगहों पर बिजली गिरने की संभावना भी है। ऐसे में सभी को अलर्ट रहने की जरूरत है।
 

Also Read

भविष्य के अनुकूल होगी धान और गेहूं की खेती, घटेगी लागत, बढ़ेगी उत्पादकता

17 Jul 2024 06:48 PM

गोरखपुर Gorakhpur News : भविष्य के अनुकूल होगी धान और गेहूं की खेती, घटेगी लागत, बढ़ेगी उत्पादकता

इरी के साउथ एशिया रीजनल सेंटर (वाराणसी) के डायरेक्टर डॉ. सुधांशु सिंह के नेतृत्व में वैज्ञानिकों की एक टीम ने बुधवार को चौक बाजार स्थित फार्म पर धान की खेती का निरीक्षण किया और अब तक किए गए प्रयोग/अनुसंधान के परिणाम का मूल्यांकन किया। और पढ़ें