झांसी में मानसून की कमी : गरौठा क्षेत्र में सबसे कम बारिश, वैज्ञानिकों ने जलवायु परिवर्तन को माना कारण

गरौठा क्षेत्र में सबसे कम बारिश, वैज्ञानिकों ने जलवायु परिवर्तन को माना कारण
UPT | झमाझम बारिश को तरस रही झांसी

Jul 12, 2024 01:38

झांसी में मानसून सीजन के बावजूद बारिश की कमी ने चिंता बढ़ा दी है। गरौठा क्षेत्र में सबसे कम बारिश दर्ज की गई है, जबकि मौसम वैज्ञानिकों ने इसका मुख्य कारण वनों का कटान और जलवायु परिवर्तन को बताया है।

Jul 12, 2024 01:38

Jhansi News : मानसून सीजन शुरू हो गया है, लेकिन झांसी भारी बारिश के लिए तरस रही है। अब तक 50 प्रतिशत बारिश भी नहीं हुयी है। सबसे खराब स्थिति गरौठा क्षेत्र की है, जहां आसमान से काली घटाएं पूरी तरह से गायब हैं। मौसम वैज्ञानिकों ने कमजोर मानसून का कारण अर्ध शुष्क जलवायु का होना बताया है।

जुलाई में भी स्थिति चिंताजनक
बुन्देलखण्ड में मानसून 21 जून से पूरी तरह सक्रिय हो जाता है। झांसी में साल भर में औसतन 33 से 36 इंच वर्षा होना चाहिए, लेकिन हर पांच साल में तीन साल औसत से कम बारिश होती है। माहवार बारिश का औसत देखा जाए तो जून में लगभग 3 इंच और जुलाई में 13 इंच वर्षा होना चाहिए। इस साल स्थिति बेहद चिंताजनक है। अब तक 7 इंच से कम बारिश हुई है। इसमें जून में केवल 2 इंच बारिश हुयी है। सबसे कम 1 इंच बारिश गरौठा तहसील क्षेत्र में हुई, जबकि टहरौली तहसील क्षेत्र में डेढ़ इंच, मऊरानीपुर व मोठ में 2.31 इंच तथा झांसी तहसील क्षेत्र में ढाई इंच बारिश हुयी है।

आने वाले दिनों में भारी बारिश की उम्मीद
जुलाई के पहले सप्ताह में हुई बारिश से तगड़े मानसून की उम्मीद जतायी जा रही थी, लेकिन यह धूमिल हो गयी है। आसमान में बादल तो छा रहे हैं, लेकिन बरसने से कतरा रहे हैं। मौसम विभाग ने बुधवार को तापमान अधिकतम 38 डिग्री एवं न्यूनतम 27 डिग्री रिकॉर्ड किया है, जो प्रदेश में सबसे अधिक माना जा रहा है। क्षेत्रीय मौसम इकाई के अनुसार 11 जुलाई को भारी वर्षा हो सकती है, लेकिन अगले चार दिन तक सामान्य वर्षा के आसार हैं। वहीं, मौसम वैज्ञानिक डॉ. मुकेश चन्द्र का कहना है कि मौसम के पूर्वानुमान फेल होने और मानसून के कमजोर होने के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन मुख्य कारण वैश्विक जलवायु परिवर्तन और स्थानीय मौसम पैटर्न में बदलाव होना है। इसके अलावा वनों के अंधाधुंध कटान से भी असर पड़ रहा है। 

Also Read

एंबुलेंस सेवा पर उठे सवाल, सीएमओ ने दिए जांच के आदेश

20 Jul 2024 04:05 PM

जालौन महिला ने 4 बच्चों को दिया जन्म, चारों की मौत: एंबुलेंस सेवा पर उठे सवाल, सीएमओ ने दिए जांच के आदेश

जालौन के गोहन ग्राम में एक गर्भवती महिला ने चार नवजातों को जन्म दिया, जिनकी हालत नाजुक होने पर उन्हें उरई मेडिकल कॉलेज ले जाना था। लेकिन एंबुलेंस समय पर नहीं पहुंची। सभी बच्चों की मौत हो गई है। और पढ़ें