IPS Anand Prakash : कौन हैं आईपीएस आनंद प्रकाश, इरफान सोलंकी को सजा दिलाने में इनका अहम रोल, जानें पूरा मामला

कौन हैं आईपीएस आनंद प्रकाश, इरफान सोलंकी को सजा दिलाने में इनका अहम रोल, जानें पूरा मामला
UPT | आईपीएस आनंद प्रकाश

Jun 10, 2024 14:05

कब्जे के लिए प्लाट में आग के मामले में सोलंकी को सजा दिलाने में आईपीएस आनंद प्रकाश का अहम रोल है। उनकी वजह से ही रफान पर दर्ज 18 मुकदमों में एक पर कोर्ट का फैसला आया है।

Jun 10, 2024 14:05

Kanpur News : यूपी के कानपुर से सपा विधायक इरफान सोलंकी पर कानूनी शिकंजा कस दिया गया है। शुक्रवार को जाजमऊ आगजनी मामले में एमपीएमएलए कोर्ट ने इरफान सोलंकी उनके भाई रिजवान सोलंकी पांच आरोपियों को 7 साल की सजा सुनाई है। इसके साथ ही 20 हजार का जुर्माना भी लगाया गया है। कब्जे के लिए प्लाट में आग के मामले में सोलंकी को सजा दिलाने में आईपीएस आनंद प्रकाश का अहम रोल है। उनकी वजह से ही रफान पर दर्ज 18 मुकदमों में एक पर कोर्ट का फैसला आया है। 

आईपीएस ने पीड़िता को दिलाया इंसाफ
सपा विधायक इरफान सोलंकी व उनके भाई रिजवान ने तीन साथियों समेत कब्जे के लिए प्लाट में आग लगाई थी। आरोप सिद्ध होने पर एमपीएमएलए कोर्ट ने सभी पांच लोगों को सात-सात साल कैद की सजा सुनाई है। इरफान पर दर्ज 18 मुकदमों में एक पर कोर्ट का फैसला आया है। जिसमें पीड़ित से बात करने पर पता चला कि उन्हें इंसाफ दिलाने में एक आईपीएस ने बहुत मदद की है। साथ ही उन्होंने बताया कि उसआईपीएस की वजह से ही हमें इंसाफ मिला है। पीड़िता नजीर फातिमा ने कहा मैं उनकी शुक्र गुजार हूं। 
  कौन हैं आईपीएस आनंद प्रकाश
पीड़िता नजीर फातिमा की मदद करने वाले आईपीएस का नाम आनंद प्रकाश है। आनंद प्रकाश तिवारी 2004 बैच के असम कैडर के आइपीएस अधिकारी हैं और मूल रूप से देवरिया के रहने वाले हैं। हाल ही में केंद्र सरकार ने उन्हें प्रतिनियुक्ति पर उत्तर प्रदेश भेजा है। अपर पुलिस आयुक्त को साहस व पराक्रम के लिए वर्ष 2008 और 2012 में राष्ट्रपति का वीरता पुरस्कार, 2020 में मुख्यमंत्री असम द्वारा उत्कृष्ट सेवा पदक, वर्ष 2019 में असम के मुख्यसचिव द्वारा प्रशंसा पत्र मिल चुका है।  उनकी वजह से ही रफान पर दर्ज 18 मुकदमों में एक पर कोर्ट का फैसला आया है। 

क्या था मामला
जाजमऊ थाना क्षेत्र स्थित डिफेंस कॉलोनी में रहने वाली नजीर फातिमा का प्लाट है। नजीर फातिमा का परिवार प्लाट में ट्टर और छप्पर डालकर रहता है। नजीर फातिमा ने आरोप लगाया था कि सपा विधायक और उनके भाई प्लाट पर कब्जा करना चाहते थे। बीते 7 नवंबर 2022 (सोमवार) को परिवार के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए गए थे। इसी बीच विधायक और उनके भाई ने झोपड़ी में आग लगा दी। पुलिस ने आईपीसी की धारा 147, 327, 427, 386, 504, 436, 506 और 120 के तहत मुकदमा किया था। इस मामले में इरफान सोलंकी और उनके भाई रिजवान समेत सभी आरोपी जेल में हैं। इरफान महाराजगंज जेल में बंद हैं। 

Also Read

नाले में मिला हेड कांस्टेबल का शव, बेदर्दी से की गई हत्या, जांच में जुटी पुलिस

14 Jun 2024 10:53 PM

कानपुर नगर कानपुर से बड़ी खबर : नाले में मिला हेड कांस्टेबल का शव, बेदर्दी से की गई हत्या, जांच में जुटी पुलिस

यूपी के कानपुर जिले से एक हैरान कर देने वाला मामला प्रकाश में आया है।जहां आज एक नाले में अधेड़ का शव मिलने से हड़कम्प मच गया।जिसके बाद लोगो की भीड़ जमा हो गई और लोगो ने इसकी सूचना पुलिस को दी। और पढ़ें