advertisements
advertisements

Kanpur News : केस्को ने उपभोक्ताओं को दी बड़ी राहत, जानें क्या है पूरा मामला...

केस्को ने उपभोक्ताओं को दी बड़ी राहत, जानें क्या है पूरा मामला...
UPT | कानपुर इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई कंपनी

Apr 03, 2024 10:13

केस्को से उपभोक्ताओं के लिए राहत भरी खबर सामने आई है। अभी तक केस्को उपभोक्ता ऑनलाइन बिल जमा करने को लेकर काफी परेशान थे। अब उपभोक्ताओं की समस्याओं को देखते...

Apr 03, 2024 10:13

Kanpur News : केस्को से उपभोक्ताओं के लिए राहत भरी खबर सामने आई है। अभी तक केस्को उपभोक्ता ऑनलाइन बिल जमा करने को लेकर काफी परेशान थे। अब उपभोक्ताओं की समस्याओं को देखते हुए उनका समाधान कर दिया गया है। बिल जमा करने और रिचार्ज करने में हो रही परेशानियां को देखते हुए केस्को ने 42 दिन बाद अपनी वेबसाइट को चालू कर दिया है।

अब ऑनलाइन होंगे ये काम
कनेक्शन लोड बढ़ाने, नए कनेक्शन के लिए आवेदन करने समेत सभी काम अब ऑनलाइन होंगे। केस्को ने अपने उपभोक्ताओं को यह सुविधा दी है। केस्को का आईटी डिवीजन स्मार्ट मीटर और प्रीपेड मीटर के संबंध में अपडेट जानकारी हासिल करने के लिए अभी 4 दिन वेबसाइट पर काम करता रहेगा। जानकारी के अनुसार, केस्को की वेबसाइट 21 फरवरी की शाम से बंद थी। पहले केस्को के सर्वर और सॉफ्टवेयर को अपडेट करने और बाद में वेबसाइट पर फीचर्स के साथ सिक्योरिटी लेयर बढ़ाने का काम हो रहा था। इससे प्रीपेड उपभोक्ताओं को रिचार्ज करने में भी दिक्कत हो रही थी। यहां तक कि यूपीआई से भी पेमेंट बंद हो गया था। बिल न जमा कर पाने या रिचार्ज ना कर पाने पर कनेक्शन बंद ना हो, केस्को ने कनेक्शन काटने पर रोक लगा दी थी।

केस्को की वेबसाइट शुरू
इस मामले पर केस्को आईटी डिवीजन के एक्सईएन सर्वेश पांडे ने बताया कि केस्को की वेबसाइट शुरू हो गई है। बिल जमा करने, रिचार्ज करने समेत सभी काम होंगे। स्मार्ट प्रीपेड मीटर समेत अन्य जानकारियां तीन से चार दिनों में अपडेट हो जाएंगी। लेकिन, वेबसाइट पर सभी काम होते रहेंगे।

Also Read

इटावा के रचित ने किया जिला टॉप तो कानपुर की छात्राओं ने लहराया परचम, पढ़े ये स्टोरी

20 Apr 2024 06:16 PM

कानपुर नगर UP Board Result 2024 : इटावा के रचित ने किया जिला टॉप तो कानपुर की छात्राओं ने लहराया परचम, पढ़े ये स्टोरी

यूपी बोर्ड की परीक्षा परिणाम में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट में कानपुर देहात की टॉप टेन सूची में जगह बनाने में बालिकाओं ने बाजी मारी। हाईस्कूल में 19 बालिकाएं टॉप टेन सूची... और पढ़ें