PM Kisan Yojana : यूपी के सबसे ज्यादा किसानों को मिला फायदा, इन्हें नहीं मिलेगी 17वीं किस्त, ऐसे चेक करें नाम

यूपी के सबसे ज्यादा किसानों को मिला फायदा, इन्हें नहीं मिलेगी 17वीं किस्त, ऐसे चेक करें नाम
UPT | Symbolic Photo

Jun 10, 2024 18:27

पीएम किसान सम्मान निधि का सबसे ज्यादा लाभ उत्तर प्रदेश के किसानों को मिलता आया है।  यहां सबसे अधिक किसानों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।

Jun 10, 2024 18:27

Short Highlights
  • पीएम किसान योजना में यूपी में सबसे अधिक रजिस्ट्रेशन
  • प्रकिया पूरी करने के बाद ही बैंक खाते में पहुंची किस्त
Lucknow News : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शपथ ग्रहण के एक दिन बाद सोमवार को कार्यभार संभालने के साथ ही किसान सम्मान निधि की 17वीं किस्त को मंजूरी दी। इससे 9 करोड़ से अधिक किसानों को करीब 20000 करोड़ रुपए की धनराशि मिलेगी। पीएम किसान सम्मान निधि का सबसे ज्यादा लाभ उत्तर प्रदेश के किसानों को मिलता आया है।  यहां सबसे अधिक किसानों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। इससे पहले पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 16वीं किस्त के तौर पर उत्तर प्रदेश के दो करोड़ से अधिक (200.27 लाख) किसानों के खाते में 5139.82 करोड़ रुपए की राशि भेजी गई थी। वहीं कई किसान  ईकेवाईसी और अन्य जरूरी दस्तावेजों के अभाव में 17वीं किस्त का लाभ नहीं ले पाएंगे। 

यूपी में दिसंबर 2023 तक इतने किसानों को मिला लाभ
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की शुरुआत दिसंबर 2018 में की गई थी। इसके तहत किसानों के खाते में हर चार माह में दो हजार रुपए की दर से सालाना छह हजार रुपए स्थानांतरित किए जाते हैं। प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के मुताबिक प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत दिसंबर 2023 तक लगभग 63000 करोड़ रुपए डीबीटी के माध्यम से 2.62 करोड़ किसानों के खातों में हस्तांतरित किए गए हैं। इस संख्या में अब और इजाफा हो गया है। यूपी में योजना के प्रारंभ से अब तक 2.76 लाख से ज्यादा किसान ऐसे हैं, जिन्हें कम से कम एक बार योजना से इस योजना का लाभ मिला है।

16वीं किस्त का ज्यादा किसानों ने उठाया लाभ
पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ लेने के लिए किसानों को भूलेख अंकन, बैंक खाते की आधार सीडिंग और ई-केवाईसी अनिवार्य है। उत्तर प्रदेश में 16वीं किस्त से पहले लगभग 24 लाख किसानों ने इस प्रक्रिया को पूरा किया, जिसकी वजह से दो करोड़ से अधिक किसानों को इसका लाभ मिल सका। जबकि ई-केवाईसी के अभाव में 15वीं किस्त का लाभ 1.76 लाख किसानों को ही मिल सका था। अब 17वीं किस्त में एक बार फिर उन किसानों की धनराशि बैंक खातों में नहीं पहुंचेगी, जिनके दस्तावेज पूरे नहीं हैं। इसे पूरा करने के बाद हीं उन्हें 17वीं किस्त का लाभ मिलेगा।

इन किसानों को नहीं मिलेगी पीएम किसान योजना की 17वीं किस्त
जिन किसानों ने अब तक केवाईसी पूरी नहीं करवाई है, उन किसानों की किस्त बैंक खाते में नहीं पहुंचेगी। जिन किसानों की भूमिका सत्यापन नहीं हुआ है. उनके किसानों को योजना की तहत 17वीं किस्त का लाभ नहीं मिलेगा। ई केवाईसी के साथ ही भूमि सत्यापन करवाना भी जरूरी है. 

पीएम किसान सम्मान निधि की अहम बातें
  • पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ उन्हीं किसानों को दिया जाता है जिनके परिवार में कोई भी सरकारी नौकरी नहीं कर रहा होता है। 
  • 10 हजार रुपए मासिक पेंशन से अधिक के दायरे वालों को पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ नहीं मिलता है।
  • आयकर का भुगतान करने वाले सभी व्यक्ति इसके दायर से बाहर होते हैं।
  • डॉक्टर्स, इंजीनियर्स, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट और आर्किटेक्ट जैसे पेशेवर पेशेवर निकायों के साथ पंजीकृत और अभ्यास करने वालों को भी योजना का लाभ नहीं मिलता है।

आवश्यक दस्तावेज
  • निवास प्रमाण पत्र
  • निर्वाचन कार्ड
  • जमीन से सम्बंधित जानकारी
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आधार कार्ड
  • बैंक अकाउंट पासबुक‌‌

आवेदन प्रक्रिया
  • सबसे पहले आपको पीएम किसान सम्मान निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट - https://pmkisan.gov.in/ पर जाना होगा।
  • इस वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने इस वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको फार्मर कॉर्नर में मौजूद न्यू फार्मर रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन आएगा जिस पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा और आपसे आपका नाम, मोबाइल नंबर और स्टेट पूछा जाएगा। यह सारी जानकारी पूरी करें।
  • इसके बाद आपको नीचे कैप्चा कोड भरना होगा और सेंड ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।‌‌
  • इसके बाद आपके द्वारा दर्ज किए गए मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी जाएगा जिसे आपको यहां पर भरना है और सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपसे पूछा जाएगा कि क्या आप पंजीकरण करना चाहते हैं तो आपको 'यस' के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इतना करने के बाद आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा।‌‌‌‌
  • अब आपको इस फॉर्म में मांगी गई सारी जानकारी बिल्कुल सही-सही भर देनी हैं और जमीन से जुड़े सभी दस्तावेजों जैसे खतोनी आदि को भी ध्यान पूर्वक अपलोड कर देना है।‌‌
  • इसके बाद नीचे सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • जैसे ही आप सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करते हैं, आप सफलतापूर्वक इस योजना में रजिस्ट्रेशन कर चुके हैं। अब आपको एक किसान आईडी प्रदान की जाएगी। रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपकी सारी जानकारियों को विभाग द्वारा रिव्यू किया जाएगा और सत्यापन के बाद आपको इस योजना के तहत सफलतापूर्वक रजिस्टर कर दिया जाएगा। 

Also Read

स्क्रैप ठेकेदार की साहस देखकर सब दंग, अधिकारी-कर्मचारी लिए गए हिरासत में

14 Jun 2024 10:45 PM

लखनऊ सीबीआई का रेलवे भंडारण विभाग पर छापा : स्क्रैप ठेकेदार की साहस देखकर सब दंग, अधिकारी-कर्मचारी लिए गए हिरासत में

गुरुवार को ठेकेदार स्क्रैप माल लेने के लिए रेलवे स्टोर पहुंचा था। इस दौरान, डीएसके के पद पर तैनात अविरल कुमार ने ठेकेदार से रिश्वत मांगी। ठेकेदार ने जैसे ही रिश्वत की रकम दी, सीबीआई ने अविरल कुमार को रंगे हाथों पकड़ लिया। और पढ़ें