advertisements
advertisements

लखनऊ में गंदगी की भरमारः सफाई इंतजाम देख सुरेश खन्ना नाराज, हैदर कैनाल पर डाली जाएगी स्लैप

सफाई इंतजाम देख सुरेश खन्ना नाराज, हैदर कैनाल पर डाली जाएगी स्लैप
UPT | सफाई व्यवस्था का जायजा लेते प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना

Jun 11, 2024 16:16

कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने मंगलवार को महापौर सुषमा खर्कवाल और नगर आयुक्त इंद्रजीत सिंह के साथ राजधानी में सफाई इंतजामों को लेकर औचक निरीक्षण किया। इस दौरान कई इलाकों में गंदगी की भरमार दिखी।

Jun 11, 2024 16:16

Short Highlights
  • नगर निगम के चार वार्डों में लिया सफाई व्यवस्था का जायजा
  • कई जगह मिली गंदगी, ड्रेनेज सिस्टम मिला बदहाल
Lucknow News : प्रदेश के वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री और जनपद लखनऊ के प्रभारी मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने राजधानी में सफाई व्यवस्था की स्थिति पर कड़ी नाराजगी जताई है। उन्होंने राजधानी में ड्रेनेज सिस्टम की खराब हालत पर अधिकारियों को फटकार लगाई और व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए। कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने मंगलवार को महापौर सुषमा खर्कवाल और नगर आयुक्त इंद्रजीत सिंह के साथ राजधानी में सफाई इंतजामों को लेकर औचक निरीक्षण किया। इस दौरान कई इलाकों में गंदगी की भरमार दिखी। गर्मी के भीषण कहर को लेकर राजधानीवासी काफी परेशान हैं, ऐसे में सफाई इंतजाम बदहाल होने से लोगों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। संक्रामक रोगों का खतरा बढ़ गया है। 

सफाई कर्मियों का काटा जाएगा तीन दिन का वेतन 
सुरेश खन्ना निरीक्षण के दौरान नगर निगम लखनऊ के चार वार्डों में पहुंचे और वहां पर सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने सफाई व्यवस्था को लेकर नाराजगी जाहिर की और नगर आयुक्त को संबंधित सफाई कर्मियों के तीन दिन के वेतन काटने के निर्देश दिए। 

नाली सफाई पर जताई नाराजगी 
प्रभारी मंत्री ने मंगलवार को बाबू बनारसी दास वार्ड, लाल कुआं वार्ड, जे सी वार्ड एवं यदुनाथ सान्याल नजर बाग वार्ड की सफाई व्यवस्था को लेकर स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने सफाई व्यवस्था विशेषकर नाली सफाई पर नाराजगी जाहिर करते हुए असंतोष जाहिर किया। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिया कि हर हाल में सफाई व्यवस्था को और अधिक बेहतर करें। 

हर हाल में हटाए जाएं अस्थाई अवरोध 
प्रभारी मंत्री ने कहा कि ड्रेनेज सिस्टम को प्रभावित करने वाले स्थाई या अस्थाई अवरोध को हटाया जाए। ऐसे अवरोध जिनकी वजह से नालियां अवरूद्ध होती हैं और जल जमाव की समस्या पैदा होती है उनको तत्काल हटाया जाए। हैदर कैनाल का निरीक्षण के दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि उस पर स्लैप डाले जाने की कार्ययोजना बनाई जाए। इस नाले की वजह से जल भराव की समस्या का स्थाई समाधान निकाला जाए। 
 

Also Read

30 हजार मेगावाट से ज्यादा डिमांड पूरी करने वाला बना पहला राज्य

13 Jun 2024 04:12 PM

लखनऊ उत्तर प्रदेश में विद्युत मांग का टूटा रिकॉर्ड : 30 हजार मेगावाट से ज्यादा डिमांड पूरी करने वाला बना पहला राज्य

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य है जिसने 30 हजार मेगावाट से ज्यादा मांग के अनुरूप विद्युत आपूर्ति करने का रिकॉर्ड बनाया है। 12 जून को उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन ने प्रदेश की अधिकतम डिमांड 30240 मेगावाट को पूरा किया। और पढ़ें