advertisements
advertisements

यूपी कैबिनेट का बड़ा फैसला : प्रदेश में 30 जून तक होंगे ट्रांसफर, नई तबादला नीति पर लगी मुहर

प्रदेश में 30 जून तक होंगे ट्रांसफर, नई तबादला नीति पर लगी मुहर
UPT | यूपी में 30 जून तक होंगे ट्रांसफर

Jun 11, 2024 13:26

लोकसभा चुनाव समाप्त होने के बाद आचार संहिता हट गई है। ऐसे में उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ताबड़तोड़ फैसले ले रही है।

Jun 11, 2024 13:26

Lucknow News : लोकसभा चुनाव समाप्त होने के बाद आचार संहिता हट गई है। ऐसे में उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ताबड़तोड़ फैसले ले रही है। योगी सरकार ने प्रदेश में नई ट्रांसफर नीति को मंजूरी दी है। कैबिनेट से मंजूरी के बाद अब राज्य कर्मचारियों के ट्रांसफर शुरू हो जाएंगे। डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने बताया कि 30 जून तक ट्रांसफर किए जाएंगे। यानी ट्रांसफर की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।

क्या है नई ट्रांसफर नीति?
ट्रांसफर पॉलिसी के नियमों में कोई बदलाव नहीं हुआ है, पिछले साल के ही नियम हैं। ऐसे कर्मचारी जो जिले में 3 साल, मंडल में 7 साल का कार्यकाल पूरा कर चुके हैं। उन्हें ट्रांसफर की कैटेगरी में शामिल किया जाएगा। समूह क और ख के 20% अधिकारियों का तबादला हो सकता है। समूह-ग और घ के 10% कर्मचारियों के ट्रांसफर विभाग अध्यक्ष करेंगे। इससे ज्यादा संख्या में ट्रांसफर के लिए मंत्री की अनुमति अनिवार्य होगी। प्रदेश में ट्रांसफर में पिक एंड चूज यानी अपनी पसंद की जगह ट्रांसफर की व्यवस्था खत्म की गई है। पहले उन कर्मचारियों का ट्रांसफर किया जाएगा, जो लंबे समय से एक ही जगह पर तैनात हैं।

कैबिनेट की पहली पेपरलेस बैठक
उत्तर प्रदेश की कैबिनेट बैठक कुल 41 प्रस्तावों पर मुहर लगी है। इसमें से 26 प्रस्ताव जल संसाधन मंत्रालय के हैं। सरकार की यह पहली पेपरलेस कैबिनेट बैठक हुई है। इसमें सभी मंत्री टैबलेट के साथ पहुंचे थे। लोकसभा चुनाव के चलते 4 महीने से योगी कैबिनेट की बैठक नहीं हुई थी। चुनाव अधिसूचना से पहले 5 मार्च को आखिरी बैठक हुई थी। मंगलवार को 11 बजे से लोकभवन में बैठक हुई। 

इन प्रस्तावों को भी मिली मंजूरी
  • बरेली में फ्यूचर यूनिवर्सिटी, गाजियाबाद में एचआरआईटी यूनिवर्सिटी को मंजूरी।
  • हुडको से 1000 करोड़ के लिए गए लोन की गारंटी लेगी सरकार।
  • ओबरा में लग रहे दो पावर प्लांट की लागत बढ़ने को मिली हरी झंडी, पहले 11705 करोड़ रुपए लागत थी, अब 13005 करोड़ रुपए लागत हो गई है।
  • बलिया के रसड़ा में ट्रांसमिशन सबस्टेशन की लागत 537 करोड़ लागत करने के प्रस्ताव को मंजूरी।
  • नोएडा में जेवर एयरपोर्ट बनाने के लिए ली गई किसानों की जमीन का मुआवजा देने के लिए धनराशि को मंजूरी।
  • लखीमपुर में बनाया जाएगा हवाई अड्डा, प्रस्ताव को दी मंजूरी।
  • आईआईटी कानपुर में बनेगा मेडिकल रिसर्च सेंटर, 500 बेड का सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल बनाने को दी मंजूरी।
इस बार भी नहीं पहुंचे केशव मौर्य
उ्त्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य आज भी बैठक में नहीं पहुंचे। 3 दिन पहले भी वो सीएम योगी द्वारा बुलाई गई मंत्रियों की बैठक में शामिल नहीं हुए थे। मौर्य अभी दिल्ली में हैं। वह कैबिनेट जैसी अहम बैठक में क्यों नहीं शामिल हो रहे हैं, यह अभी स्पष्ट नहीं है।

Also Read

सीएम योगी आदित्यनाथ के लॉ एंड ऑर्डर को मिलेगी और मजबूती

13 Jun 2024 08:16 PM

लखनऊ नए आपराधिक कानूनों से यूपी को होगा सर्वाधिक लाभ : सीएम योगी आदित्यनाथ के लॉ एंड ऑर्डर को मिलेगी और मजबूती

ये बदलाव विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश की अवधारणा के अनुरूप है। यह शरीर, सोच और आत्मा में पूरी तरह से भारतीय है। इन बदलावों में अधिकतम सुशासन, पारदर्शिता, संवेदनशीलता, जवाबदेही, बच्चों और महिलाओं के हित पर खासा ध्यान दिया गया है। और पढ़ें