कुकरैल नदी के किनारे हरियाली बढ़ेगी :  साढ़े चार किलोमीटर तक सौमित्र और शक्ति वन विकसित होंगे

साढ़े चार किलोमीटर तक सौमित्र और शक्ति वन विकसित होंगे
फ़ाइल फोटो | सौमित्र और शक्ति वन विकसित होंगे

Jul 09, 2024 23:44

अकबर नगर प्रथम और द्वितीय में अवैध अतिक्रमण से मुक्त कराई गई लगभग 25 एकड़ भूमि पर सौमित्र वन और शक्ति वन विकसित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 20 जुलाई को इस पहल की शुरुआत करेंगे, जिसमें 10,000 पौधे रोपे जाएंगे।

Jul 09, 2024 23:44

Lucknow News : लखनऊ में कुकरैल नदी के किनारे साढ़े चार किलोमीटर तक हरियाली का विस्तार किया जाएगा। इस परियोजना के तहत अकबर नगर प्रथम और द्वितीय में अवैध अतिक्रमण से मुक्त कराई गई लगभग 25 एकड़ भूमि पर सौमित्र वन और शक्ति वन विकसित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 20 जुलाई को इस पहल की शुरुआत करेंगे, जिसमें 10,000 पौधे रोपे जाएंगे।

32 प्रजातियों के पेड़ लगेंगे
इस वन क्षेत्र में 32 प्रजातियों के पेड़ लगाए जाएंगे, जिनमें शीशम, जामुन, बेल, अर्जुन, आम, इमली, आंवला और कटहल शामिल हैं। इसके अलावा, सर्पगंधा और एलोवेरा जैसी 10 हर्ब प्रजातियां तथा नींबू, करौंदा और चांदनी जैसी झाड़ी प्रजातियों के पौधे भी लगाए जाएंगे। यह परियोजना शहर में हरियाली बढ़ाने और पर्यावरण संरक्षण में महत्वपूर्ण योगदान देगी।

11 करोड़ रुपये खर्च होंगे
लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डॉ. इंद्रमणि त्रिपाठी ने बताया कि इस परियोजना पर लगभग 11 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसमें बच्चों के लिए किड्स जोन, लॉन, ग्रीन एरिया, ओपन जिम और टहलने के लिए पाथ-वे जैसी सुविधाएं शामिल होंगी। साथ ही, हाईमास्ट और फसाड लाइटें लगाकर क्षेत्र की सुंदरता बढ़ाई जाएगी।

कमिश्नर ने लिया जायजा
मंडलायुक्त डॉ. रोशन जैकब ने स्थल का निरीक्षण कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने निर्देश दिया कि मलबा हटाने की गति बढ़ाई जाए और पौधरोपण की तैयारियां एक सप्ताह के भीतर पूरी की जाएं। कुल मिलाकर, इस परियोजना में 1.25 लाख पेड़-पौधे लगाए जाएंगे।

Also Read

राज्य आपदा मोचक निधि से  40 जिलों को जारी किए गए 120 करोड़ रुपए

20 Jul 2024 06:20 PM

लखनऊ सीएम योगी ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लिए आवंटित की धनराशि : राज्य आपदा मोचक निधि से  40 जिलों को जारी किए गए 120 करोड़ रुपए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ की सरकार ने प्रदेश में बाढ़ प्रभावित व्यक्तियों, परिवार को राहत सहायता देने और कृषि निवेश अनुदान सहित अन्य राहत कार्यों के लिए... और पढ़ें