advertisements
advertisements

खजूर रमज़ान में खजूर की डिमांड हाई, कई हेल्थ बेनिफिट्स भी

रमज़ान में खजूर की डिमांड हाई,   कई हेल्थ बेनिफिट्स भी
UPT | खजूर

Apr 03, 2024 17:20

रमज़ान में खजूर की डिमांड हाई, इस्लाम में सुन्नत हेल्थ बेनिफिट्स भी

Apr 03, 2024 17:20


रमज़ान में वैसे तो हर व्यापारी के कारोबार में जबरदस्त इज़ाफा देखा जाता है लेकिन खजूर की बाज़ार कई गुना बढ़ जाती है। वजह है कि खजूर इस्लाम में सुन्नत बताई गई है और पैगंबर मोहम्मद साहब खजूर से ही रोज़ा खोला करते थे। रमजान के महीने में कई देशों की खजूरें इन दिनों बाजार में उपलब्ध है जिनकी कीमत 100 रुपए किलो से शुरू होकर 2300 रुपए किलो तक जाती है। मोहम्मद साहब के द्वारा लगाए गए खजूर के पेड़ से निकलने वाली अजवा खजूर लखनऊ की बाजार में 1200 रुपए किलो बिक रही है। अजवा खजूर दुनियाभर में लोगों की सबसे पसंदीदा खजूर मानी जाती है।

*लखनऊ की मंडी में छाई कई देशों की खजुरें* 
 
लखनऊ में सबसे बड़े खजूर के व्यापारियों में से एक आमिर बताते है कि उनके यहां दुबई, सऊदी अरब, ईरान, जॉर्डन, ओमान जैसे कई देशों की खजूर उपलब्ध है। रमजान महीने में खजूर का व्यापार तीन गुना से ज्यादा तक बढ़ जाता है। आमिर कहते है कि रोज़े खोलने के अलावा खजूर का शेक भी खूब पसंद किया जाता है और उससे शरीर में ताकत आती है। 

*अजवा खजूर की सबसे ज्यादा डिमांड*

आमिर बताते है कि लखनऊ के साथ हर जगह सबसे ज्यादा अजवा खजूर की मांग रहती है। सुन्नत के साथ इसके हेल्थ बेनिफिट्स भी कई है। इस खजूर का इतिहास हुजूर ए अकरम सल्लाहु अलेही वसल्लम के वक्त से मिलता है। अजवा खजूर का पेड़ खुद हुजूर ने अपने हाथों से लगाया था। सुखरी खजूर के दीवाने अता उर रहमान कहते है कि इसको खाने से लगता है कि रसगुल्ला खा रहे है। वह कहते है कि मैं सबको यही खजूर खाने की राय देता हूं और घर में मेहमानो के आगे भी सुखरी खजूर को परोसता हूं। 

*शुगर मरीजों को करना चाहिए परहेज़*

लखनऊ के जाने माने चिकित्सक और फेहमीना अस्पताल के मालिक डॉक्टर सलमान खालिद कहते है कि खजूर एक नेमत है। खजूर एक दवा भी है और सुन्नत भी। इसके कई फायदे है जैसे न्यूट्रीशन की मात्रा। डॉक्टर सलमान कहते है कि पंद्रह घंटे रोज़ा रखने के दौरान एक व्यक्ति का शुगर लेवल कम हो जाता है और जब वह खजूर से रोज़ा खोलता है तो यह कमी पूरी हो जाती है और शख्स को एनर्जी बूस्टर मिल जाता है। खजूर में 66 प्रतिशत शुगर होती है और प्रोटीन की भी मात्रा काफी होती है। वह कहते है कि खजूर में फैट काफी कम होता है जिसकी वजह से उसके नुक्सान कम है लेकिन डायबिटिक मरीजों के लिए अच्छी चीज नहीं है। डॉक्टर सलमान बताते है कि यह एक मिथ है कि खजूर खाने से शुगर कंट्रोल होती है। अगर कोई व्यक्ति शुगर पेशंट है तो वह बिलकुल भी खजूर से रोज़ा नहीं खोले।

Also Read

बसपा ने मुस्लिम उम्मीदवार पर लगाया दांव, चौधरी बशीर को बनाया प्रत्याशी   

17 Apr 2024 06:18 PM

टॉप न्यूज़ फिरोजाबाद लोकसभा सीट : बसपा ने मुस्लिम उम्मीदवार पर लगाया दांव, चौधरी बशीर को बनाया प्रत्याशी   

लोकसभा चुनाव में भाजपा और सपा को कड़ी टक्कर देने के लिए बसपा ने फिरोजाबाद से मुस्लिम उम्मीदवार पर दांव लगाया है। बसपा ने पूर्व विधायक चौधरी बशीर को अपना प्रत्याशी बनाया है। और पढ़ें