advertisements
advertisements

Umesh Pal Murder Case : अतीक अहमद के परिवार की दो और महिलाओं पर इनाम घोषित

अतीक अहमद के परिवार की दो और महिलाओं पर इनाम घोषित
UPT | अतीक अहमद

Apr 02, 2024 12:06

उमेश पाल हत्याकांड में प्रयागराज पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस ने माफिया अतीक अहमद की बहन आयशा नूरी और अशरफ की पत्नी जैनब उर्फ रूबी पर 25-25 हजार रुपये का इनमा घोषित किया है।

Apr 02, 2024 12:06

Lucknow / Prayagraj News : उमेश पाल हत्याकांड में अतीक अहमद के परिवार की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। प्रयागराज पुलिस ने माफिया अतीक अहमद की बहन आयशा नूरी और अशरफ की पत्नी जैनब उर्फ रूबी पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन पर पहले से ही 50 हजार का इनाम घोषित है। पुलिस इस हत्याकांड में फरार आरोपियों की लगातार तलाश कर रही है। घटना के एक साल बाद भी पुलिस इन आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

इनामी गुड्डु मुस्लिम को  शरण दी थी
आयशा नूरी मेरठ के भवानी नगर में रहती थी। वह अतीक की तीसरे नंबर की बहन है। उमेश पाल की हत्या के बाद उसने और उसके पति अखलाक ने 5 लाख रुपये के इनामी गुड्डु मुस्लिम को अपने घर में शरण दी थी। इसका खुलासा सीसीटीवी फुटेज से हुआ था।अतीक अहमद के भाई अशरफ की पत्नी जैनब हटवा की रहने वाली है। बताया जा रहा है कि उसे उमेश पाल हत्याकांड की साज़िश से लेकर वारदात तक के बारे में पूरी जानकारी थी।

संपत्ति भी कुर्क की जाएगी
खबर के मुताबिक जैनब फातिमा और आयशा नूरी को भगोड़ा घोषित कर इनकी संपत्ति की कुर्की भी की जाएगी और जल्द ही गिरफ्तारी नहीं होने पर इनाम की राशि बढ़ाई भी जाएगी। इस मामले में शूटर बमबाज गुड्डू मुस्लिम, साबिर और अरमान पर पांच-पांच लाख का इनाम पहले से ही घोषित है।

ये था मामला
24 फरवरी 2023 को उमेश पाल और दो सरकारी गनर की बम और गोलियों से भून कर हत्या कर दी गई थी। यह घटना सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गई थी। 24 फरवरी की शाम को उमेश पाल के घर के पास ही बदमाशों ने पहले उनकी कार पर फायरिंग की थी। इसके बाद बदमाशों ने उनके दोनों गनर पर दो बम फेंके थे। इससे घायल हुए तीनों लोगों को तुरंत अस्पताल ले जाया गया था, जहां इलाज के दौरान उमेश पाल और उनके गनर संदीप मिश्रा की मौत हो गई। बाद में दूसरे गनर राघवेंद्र सिंह की लखनऊ में इलाज के दौरान मौत हो गई। 2005 में बसपा विधायक राजू पाल की हत्या में उमेश पाल मुख्य गवाह थे, लेकिन मामले की जांच कर रही सीबीआई ने अपनी जांच में उमेश पाल को गवाह नहीं बनाया था। 

Also Read

सुरक्षा कारणों का हवाला देकर लगाई पाबंदी, अदालत में घिरी सरकार

17 Apr 2024 08:44 PM

नेशनल पाकिस्तान में बैन हुआ X : सुरक्षा कारणों का हवाला देकर लगाई पाबंदी, अदालत में घिरी सरकार

पाकिस्तान सरकार ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म 'एक्स' के बंद होने की अटकलों की पुष्टि कर अदालत को जवाब दिया। सरकार ने बुधवार को कोर्ट में माना कि सुरक्षा कारणों के कारण 'एक्स' को अस्थायी रूप से बंद करने का आदेश दिया था... और पढ़ें