advertisements
advertisements

जिले के दिव्यांग विद्यार्थियों के ड्रॉप आउट रोकने को होंगे विशेष प्रयास : कक्षा-1 से बच्चों को चिह्नित करने के दिए निर्देश 

कक्षा-1 से बच्चों को चिह्नित करने के दिए निर्देश 
UPT | डीएम की अध्यक्षता में बैठक हुई।

May 17, 2024 01:43

यू डाइस के अनुसार कक्षा 1 से लेकर कक्षा 8 तक के नामांकित दिव्यांग विद्यार्थियों की संख्या को लेकर शैक्षिक सत्र 2022-23 और 2023-24 के बीच समीक्षा की गई तो लगभग प्रत्येक कक्ष से अगली कक्षा में प्रमोट होने वाले दिव्यांग विद्यार्थियों के नामांकन में गिरावट देखी गयी।

May 17, 2024 01:43

Agra News : जिलाधिकारी भानु चन्द्र गोस्वामी की अध्यक्षता में दिव्यांग छात्रों के नामांकन एवं उन्हें प्रदत्त होने वाली सुविधाओं तथा बेसिक शिक्षा विभाग की विकास भवन सभागार में समीक्षा बैठक गुरुवार को हुई। बैठक में बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि शैक्षिक सत्र 2022-23 में कक्षा एक से लेकर कक्षा 8 तक दिव्यांग विद्यार्थियों के नामांकित संख्या व सत्र 2023-24 में हुए नामांकन का ब्योरा दिया गया। डीएम ने पिछले सत्र की अपेक्षा कम नामांकन, दिव्यांग विद्यार्थियों के नामांकित संख्या में गिरावट आने पर नाराजगी जताई। उन्होंने निर्देश दिए कि इसी माह में अभियान चला कर सभी दिव्यांग छात्रों का नामांकन सुनिश्चित कराया जाए। इसके बाद उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। 

दिव्यांग विद्यार्थियों के नामांकन में गिरावट
यू डाइस के अनुसार कक्षा 1 से लेकर कक्षा 8 तक के नामांकित दिव्यांग विद्यार्थियों की संख्या को लेकर शैक्षिक सत्र 2022-23 और 2023-24 के बीच समीक्षा की गई तो लगभग प्रत्येक कक्ष से अगली कक्षा में प्रमोट होने वाले दिव्यांग विद्यार्थियों के नामांकन में गिरावट देखी गयी। जिलाधिकारी ने इसका कारण स्पष्ट करने के साथ ही इसकी विस्तृत रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। कक्षा- 8 से कक्षा- 9 में प्रमोट होने वाले सभी शत प्रतिशत दिव्यांग छात्रों का नामांकन कराने, फेल और पास होने वाले सभी दिव्यांग दिव्यांग विद्यार्थियों के नामांकन में गिरावट का रिकॉर्ड तैयार करने के निर्देश दिए।

दिव्यांग बच्चों के ड्रॉप आउट पर डीएम ने जताई चिंता
समेकित शिक्षा के अंतर्गत दिव्यांग बच्चों के लिए प्राथमिक, उच्च प्राथमिक और कंपोजिट विद्यालयों में संचालित की जाने वाली विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की गई। डीएम ने निर्देश दिए कि जनपद में जितने भी दिव्यांग विद्यार्थी नामांकित है, उनमें पात्रता अनुसार दिव्यांग प्रमाण पत्र, दिव्यांग उपकरण आदि उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करें। बैठक में डीएम ने दिव्यांग बच्चों के ड्रॉप आउट पर गंभीर चिंता जताई। जनपद में कक्षा- 4 में हुए दिव्यांग बच्चों के नामांकन, कक्षा- 8 तक एक तिहाई ही रह गए। जिलाधिकारी ने कारण पूछने पर बताया गया कि जूनियर स्कूल की अधिक दूरी तथा अभिभावकों में जागरूकता का अभाव व रुचि न लेना दिव्यांग बच्चों के ड्रॉप आउट के प्रमुख कारण हैं। जिलाधिकारी ने ड्रॉप आउट बच्चों का डाटा तलब किया। इसमें पाया गया कि मंडल के अन्य जनपदों की तुलना में कक्षा-4 से कक्षा-5 में ड्रॉप आउट जनपद आगरा में अधिक है। इस स्थिति पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा सभी बीईओ को कक्षा-1 से दिव्यांग बच्चों को चिह्नित करने, दिव्यांग सर्टिफिकेट बनवाने, सभी को एनरोलमेंट करने, ब्लॉकवार दिव्यांगों बच्चों की कक्षा-8 तक की सूची तैयार करने, ऐसे सभी दिव्यांग बच्चे जिनके दिव्यांग सर्टिफिकेट नहीं बने हैं। उनकी सूची तैयार करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को डीआईओएस से समन्वय कर सभी कक्षा- 8 के बच्चों की सूची उपलब्ध कराने तथा शतप्रतिशत माध्यमिक शिक्षा के लिए पंजीकृत कराने के निर्देश दिए।

गंभीर दिव्यांग बच्चे जो अपनी स्कूलिंग नहीं कर सकते उनके लिए दिव्यांगों के लिए बने बोर्डिंग स्कूल का पता कर वहां एनरोलमेंट कराने के लिए विशेष प्रयास करने को जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी तथा बीएसए को निर्देशित किया। बैठक में डीएम ने दिव्यांग बच्चों को मिलने बाली स्कॉलरशिप की समीक्षा की, कितने दिव्यांग बच्चों को छात्रवृत्ति मिल रही है, किसको नहीं मिल रही। इस पर बताया गया कि बिना दिव्यांग सर्टिफिकेट के शत प्रतिशत बच्चों को स्कॉलरशिप नहीं मिल सकती। जिलाधिकारी ने ऐसे सभी बच्चे जिनके दिव्यांग सर्टिफिकेट नहीं बने हैं उन्हें चिह्नित कर सर्टिफिकेट बनाया जाना सुनिश्चित करने के कड़े निर्देश दिए।

कम नामांकन पर जताई नाराजगी
बैठक में नवीन सत्र में बेसिक शिक्षा विभाग में हुए बच्चों के नामांकन की समीक्षा की। इसमें विगत वर्ष के सापेक्ष हुए कम नामांकन पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा लक्ष्य के सापेक्ष नामांकन करने, संबंधित की व्यक्तिगत जिम्मेदारी तय करने के कड़े निर्देश दिए। ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत विद्यालयों की बॉउंड्रीबाल, विद्युत कनेक्शन, फर्नीचर आदि के 19 पैरामीटर पूर्ण करने के निर्देश दिए, जिलाधिकारी ने सभी स्कूलों के बकाया विद्युत बिल को 10 दिन में जमा कराए जाने के लिए डीपीआरओ को निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने जिन स्कूलों में बच्चों के बैठने के लिए फर्नीचर की कमी है उसकी सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

नियमित निरीक्षण के दिए निर्देश
बैठक में बेसिक स्कूलों के निरीक्षण के लिए जिले के अधिकारियों के लिए बने रोस्टर के अनुसार निरीक्षण न कराने पर बीएसए से नाराजगी व्यक्त की तथा नियमित निरीक्षण कराने को निर्देशित किया। डीएम ने बेसिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत मध्यान्ह भोजन, निपुण तथा बच्चों की उपस्थित की समीक्षा की। इसमें बताया गया कि 65.75 प्रतिशत उपस्थिति है, जिलाधिकारी ने बच्चों की 35 प्रतिशत अनुपस्थिति पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की सुधार लाने के निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि जनपद में जल्द ही चिह्नित विभिन्न ब्लॉक के विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन सामाजिक संस्था अक्षयपात्र द्वारा वितरित किए जाने के लिए भी कार्य प्रगति पर है। बैठक में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने अवगत कराया कि विद्यालयों में अध्ययनरत दिव्यांग बच्चों को उन्हें उपलब्ध कराए गए सहायता / उपकरण तथा शिक्षा की गुणवत्ता के लिए जनपद में प्रत्येक विकास खण्ड में एक कैम्प कुल 16 मेडिकल एसेसमेंट कैम्प का आयोजन कर 319 दिव्यांग बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए दिव्यांगता प्रमाण-पत्र बनवाया गया।

प्रत्येक विकास खण्ड में 03-03 कैम्प लगाकर दिव्यांग बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए उनके अभिभावकों की काउन्सिलिंग की गयी। दिव्यांग बच्चों को उपस्कर एवं उपकरण उपलब्ध कराने के लिए दो मापन कैम्प एवं दो वितरण कैम्प का आयोजन कर कुल 208 दिव्यांग बच्चों को उपकरण उपलब्ध कराए गए। दिव्यांग बालिकाओं को प्रोत्साहित किए जाने हेतु स्टाइपेन्ड के रूप में 200 रुपये प्रतिमाह 10 माह के लिए 2000 प्रति बालिका 416 बालिकाओं को धनराशि 832000 रुपये स्टाइपेन्ड प्रदान किया गया। गंभीर रूप से दिव्यांग बच्चों को प्रोत्साहित किए जाने के लिए एस्कार्ट एलाउन्स के रूप में 600 रुपये प्रतिमाह कुल 10 माह के लिए 6000 रुपये प्रति छात्र 273 छात्रों को धनराशि 1638000 रुपये एस्कार्ट एलाउन्स प्रदान किया गया।

जनपद में दिव्यांग बच्चों की शिक्षा के लिए 33 विशेष शिक्षक कार्यरत हैं जो निरन्तर शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं। कक्षा 1 से 8 तक के सभी दिव्यांग बच्चों को (पूर्ण दृष्टि अक्षम बच्चों को छोड़कर) वर्कशीट का वितरण स्पेशल / नोडल टीचर्स के के माध्यम से वितरित किया जा रहा है। दिव्यांग बच्चों का विश्व दिव्यांगता दिवस समारोह (ब्लाक एवं जनपद स्तर का) दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी एवं डीएम की उपस्थिति में आयोजित करा लिया गया है। समग्र शिक्षा के अन्तर्गत निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष पूर्ण रूप से दृष्टिबाधित 51 बच्चों को ब्रेल स्टेशनरी मैटेरियल एवं अल्प दृष्टि बाधित 94 बच्चों को लो-विजन किट जेम पोर्टल से क्रय कर वितरण किया जा चुका है। 

बैठक में ये रहे मौजूद
जनपद आगरा के परिषदीय विद्यालयों में अध्ययनरत 166 दिव्यांग बच्चों को दिनांक 29 नवंबर 2023 को एक्सपोजर विजिट के लिए आगरा किला एवं ताजमहल का भ्रमण कराया गया। जनपद आगरा में दिव्यांग छात्र/छात्राओं का विभिन्न कक्षाओं में शतप्रतिशत नामांकन का कार्य कराया जा रहा है। नामांकित छात्र/छात्राओं को विवरण यू-डायस पोर्टल पर फीडिंग का कार्य कर लिया गया है। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रतिभा सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी सतीश कुमार, बेसिक शिक्षा अधिकारी जितेंद्र कुमार गोंड, जिला दिव्यांगजन शसक्तीकरण अधिकारी सिद्धांत शर्मा सहित बेसिक माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे। 
 

Also Read

आगरा से भैंस चोरी कर अलीगढ़ में बेचने वाले तीन बदमाशों को पुलिस ने दबोचा, भेजे गए जेल

26 May 2024 05:28 PM

आगरा Agra News : आगरा से भैंस चोरी कर अलीगढ़ में बेचने वाले तीन बदमाशों को पुलिस ने दबोचा, भेजे गए जेल

पुलिस कमिश्नरी के सिटी जोन क्षेत्र अंतर्गत थाना छत्ता में बीते 3 अप्रैल को एक मैक्स बोलोरो गाड़ी चोरी हुई थी। चोरी की गई मैक्स बोलोरो से शातिर बदमाश आगरा और आसपास के क्षेत्र में भैंस चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया करते थे। और पढ़ें