advertisements
advertisements

Agra News : आगरा मेट्रो का पर्यटक जमकर लुत्फ़ उठा रहे, यूपीएमआरसी अन्य फेस के कार्यों में आर्च गर्डर का प्रयोग करेगी

आगरा मेट्रो का पर्यटक जमकर लुत्फ़ उठा रहे, यूपीएमआरसी अन्य फेस के कार्यों में आर्च गर्डर का प्रयोग करेगी
UPT | आगरा मेट्रो

May 15, 2024 20:29

आगरा मेट्रो लगातार इतिहास रच रही है। कानपुर, लखनऊ में शायद ही इतने यात्री मेट्रो से सफऱ करते हों जितने आगरा मेट्रो में। दो महीने में आगरा मेट्रो में दो लाख से अधिक यात्रियों ने सफऱ किया है, आगरा के लोगों …

May 15, 2024 20:29

Agra News : आगरा मेट्रो लगातार इतिहास रच रही है। कानपुर, लखनऊ में शायद ही इतने यात्री मेट्रो से सफऱ करते हों जितने आगरा मेट्रो में। दो महीने में आगरा मेट्रो में दो लाख से अधिक यात्रियों ने सफऱ किया है, आगरा के लोगों द्वारा मेट्रो में अधिक सफऱ करने के चलते यूपीएमआरसी के अधिकारी भी उत्साहित हैं। उधर, उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन (UPMRC) की टीम आगरा मेट्रो में दूसरी बार आर्च गर्डर का प्रयोग करने जा रही है। इन गर्डर का प्रयोग नेशनल हाईवे-19 और एमजी रोड पर बनने वाले एलीवेटेड ट्रैक में किया जाएगा। एक गर्डर का वजन 165 टन होता है। क्रासर ओवर के लिए इस गर्डर का प्रयोग किया जाता है। इसे प्रीकास्ट तकनीक से तैयार किया जाता है। इससे समय और पैसे की बचत होती है।

​​​यूपीएमआरसी की टीम ने पहली बार फतेहाबाद रोड पर आर्च गर्डर का प्रयोग किया
यूपीएमआरसी की टीम ने पहली बार फतेहाबाद रोड पर आर्च गर्डर का प्रयोग किया था। यूपीएमआरसी के अधिकारियों का दावा है कि इस तरीके के गर्डर का देश में पहली बार इस्तेमाल किया गया है। फतेहाबाद रोड पर बने एलीवेटेड मेट्रो ट्रैक में तीन गर्डर लगे हैं। इस गर्डर की ढलाई यार्ड में की जाती है। क्रेन की मदद से गर्डर को पिलर कैप के ऊपर जोड़ा जाता है। इस तकनीक में कम समय में अधिक कार्य होता है। इसके उपयोग के चलते यातायात भी प्रभावित नहीं होता है। गर्डर का वजन 165 टन के करीब होता है। उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के एक अधिकारी ने बताया कि सिकंदरा तिराहा से खंदारी तक तीन एलीवेटेड स्टेशन होंगे जबकि आगरा कैंट स्टेशन से कालिंदी विहार तक 14 एलीवेटेड स्टेशन बनेंगे।
 
दोनों रूट में दूसरी बार आर्च गर्डर का प्रयोग किया जाएगा
दोनों रूट में दूसरी बार आर्च गर्डर का प्रयोग किया जाएगा। गर्डर की संख्या पांच से छह होगी। दोनों ही कारिडोर पर जल्द ही काम चालू होने जा रहा है। नेशनल हाईवे-19 के तीन स्टेशन 312 करोड़ रुपये और दूसरे कारिडोर के सभी स्टेशन 1500 करोड़ रुपये से बनेंगे। यूपीएमआरसी के अधिकारियों के अनुसार आर्च गर्डर के अलावा टी और यू गर्डर का भी प्रयोग किया जाएगा। इन सभी गर्डर का वजन 160 से 175 टन के आसपास होता है। बहरहाल, एक तरफ जहां उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन प्रायोरिटी कॉरिडोर के बाद दूसरे फेस को पूरा करने में जुटा हुआ है वहीं दूसरी तरफ आगरा और आगरा आने वाले पर्यटक लगातार मेट्रो का जमकर लुत्फ उठा रहे हैं। 

Also Read

वीडियो गेम खिलाने के नाम पर 5 वर्षीय मासूम बच्ची के साथ पड़ोसी ने किया दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार कर भेजा जेल

26 May 2024 03:07 PM

आगरा Agra News : वीडियो गेम खिलाने के नाम पर 5 वर्षीय मासूम बच्ची के साथ पड़ोसी ने किया दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार कर भेजा जेल

अगर आप आगरा जनपद के वाशिंदे हैं और परिवार में पड़ौस में बच्चियों एवं बेटियां हैं तो आपको सतर्क हो जाना चाहिए। जनपद में विकृत मानसिकता के लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है जो मासूम बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बना रहे हैं। इसलिए आवश्यकता है कि बच्चियों को अपनी निगरानी में रखें ... और पढ़ें