advertisements
advertisements

संघमित्रा मौर्य का बयान : दशरथ की कहानी सुनकर आया रोना, टिकट कटने पर कोई उदासी नहीं

दशरथ की कहानी सुनकर आया रोना, टिकट कटने पर कोई उदासी नहीं
UPT | संघमित्रा मौर्य का बयान

Apr 03, 2024 18:06

मंगलवार को आयोजित भाजपा के प्रबुद्ध सम्मेलन में भाषण देने से पहले मंच पर संघमित्रा मौर्य भावुक नजर आई थी। जिस पर उनका बयान सामने आया है, कहा कि दशरथ की कहानी सुनकर भावुक हो गई थी...

Apr 03, 2024 18:06

Short Highlights
  • राजा दशरथ के चरित्र का वर्णन से हुई थी भावुक : संघमित्रा मौर्य
  • मुझे उदासी होनी होती तो 28 को या 24 को होती : संघमित्रा मौर्य
  • पार्टी ने कुछ अच्छा ही सोचा होगा : संघमित्रा मौर्य
Budaun News : बदायूं में सीएम योगी आदित्यनाथ के आगमन से पहले मंच पर संघमित्रा मौर्य की आंखों से आंसू झलक पड़े थे। मंगलवार को आयोजित भाजपा के प्रबुद्ध सम्मेलन में भाषण देने से पहले मंच पर संघमित्रा मौर्य भावुक नजर आई थी। जिस पर उनका बयान सामने आया है। भावुक होने की वजह उन्होंने बगल में बैठी मंत्री गुलाब देवी के द्वारा सुनाई दशरथ कथा को बताया था।

भावुक होने की बताई वजह
संघमित्रा मौर्य ने कहा कि इंसान के जीवन कभी-कभी भावुक पल आ ही जाता है। हम महिलाएं हैं और महिलाएं तो और भी भावुक होती हैं चाहे वो किसी भी पद पर पहुंच जाए। उन्होंने बताया कि पास बैठी मंत्री गुलाब देवी राजा दशरथ के चरित्र का वर्णन किया था। उसी से भावनात्मक स्थिति पैदा हो गई और आंखें नम हो गई थी।

टिकट कटने से कोई उदासी नहीं
संघमित्रा मौर्य ने कहा कि हम भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता हैं और कार्यकर्ता की तरह लगातार कार्य कर रहे हैं। मैं टिकट काटने पर उदास नहीं हूं। मेरा टिकट कल नहीं काटा गया, 24 तारीख को ही लिस्ट आ गई थी। अगर मुझे उदासी होनी होती तो 28 को या 24 को होती, नहीं की 2 तारीख को होती।

बताया टिकट कटने के कारण
संघमित्रा मौर्य ने कहा कि पार्टी ने कुछ अच्छा ही सोचा होगा। हम हमेशा सकारात्मक रहते हैं और इस पर विश्वास करते हैं कि कहीं कुछ अच्छा पार्टी और हमारे शुभचिंतकों द्वारा होना होगा। हम उसका स्वागत करेंगे।

पिता की पार्टी पर बोली संघमित्रा मौर्य
संघमित्रा मौर्य ने कहा कि मेरे टिकट कटने के पीछे पिता की नई पार्टी बनाने का कोई कारण नहीं है। मैं भारतीय जनता पार्टी के लिए कार्य कर रही हूं और मेरे कार्य का परिणाम आज नहीं तो कल जरूर मिलेगा। दूसरी पार्टी के नेताओं के वक्तव्य से हमारे ऊपर किसी प्रकार का फर्क नहीं पड़ता है। पिता और पुत्री का संबंध अपनी जगह है, उसे कोई खत्म नहीं कर सकता।

Also Read

 वरुण गांधी के समर्थक साइकिल की रफ्तार बढ़ाने में जुटे

19 Apr 2024 12:36 AM

बरेली पीलीभीत लोकसभा में भाजपा-सपा के बीच कांटे की टक्कर : वरुण गांधी के समर्थक साइकिल की रफ्तार बढ़ाने में जुटे

मुख्य मुकाबला भाजपा और सपा के बीच माना जा रहा है। यहां दोनों के बीच कांटे की टक्कर है। यहां हर किसी की निगाह पीलीभीत लोकसभा सीट से सांसद वरुण गांधी पर लगी है। और पढ़ें