कांग्रेस का कार्यकर्ता आभार समारोह : गांधी परिवार की रायबरेली-अमेठी में 10 विधानसभा सीटों पर नजर, जानें रणनी​ति

गांधी परिवार की रायबरेली-अमेठी में 10 विधानसभा सीटों पर नजर, जानें रणनी​ति
UPT | सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका गांधी।

Jun 10, 2024 19:05

सांसद किशोरी लाल शर्मा ने बताया कि 11 जून को कार्यक्रम में अमेठी और रायबरेली के सभी कार्यकर्ता इकट्ठे होंगे। सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट करेंगे। 

Jun 10, 2024 19:05

Short Highlights
  • सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी 11 जून को आएंगे रायबरेली
  • अमेठी-रायबरेली के कार्यकर्ताओं का जताएंगे आभार
  • यूपी विधानसभा चुनाव 2027 पर है नजर
     
Lucknow News : लोकसभा चुनाव में जीत के बाद अमेठी और रायबरेली के कांग्रेस कार्यकर्ता जहां बेहद उत्साहित हैं। वहीं अब उन्हें गांधी परिवार के आने का इंतजार है। इसके लिए 11 जून को कार्यकर्ता आभार समारोह की तैयारी पूरी कर ली गई है। इस आयोजन का स्थल अब भुएमऊ गेस्ट हाउस रायबरेली को बनाया गया है। कांग्रेस के अमेठी से सांसद किशोरी लाल शर्मा ने बताया कि कार्यक्रम में अमेठी और रायबरेली के सभी कार्यकर्ता इकट्ठे होंगे। इसमें सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट करेंगे। 

चुनाव में बेहतर प्रदर्शन से कांग्रेस को मिली संजीवनी
लोकसभा चुनाव 2024 में भले ही इंडिया गठबंधन बहुमत के आंकड़े से दूर रहा। लेकिन, कांग्रेस के प्रदर्शन में काफी सुधार हुआ है। पार्टी 99 सीटों के साथ भाजपा के बाद दूसरा सबसे बड़ा दल बनने में सफल हुई है। इसके साथ ही दस साल बाद उसे लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष का भी पद हासिल हुआ है। राहुल गांधी को पार्टी की ओर से इस जिम्मेदारी को निभाएंगे। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सीटें 1 से बढ़कर 6 हो गई हैं। खासतौर से अमेठी में दोबारा जीत हासिल करने को पार्टी अहम उपलब्धि मान रही है।

रायबरेली-अमेठी से गांधी परिवार का लगाव
कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा यूपी में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर अपनी खुशी का इजहार कर चुकी हैं। वहीं अब कार्यकर्ता आभार समारोह के जरिए गांधी परिवार ये संदेश देना चाहता है कि अमेठी और रायबरेली से उसका दिल का रिश्ता कायम है। ये दोनों लोकसभा सीट उनके लिए महज एक चुुनावी क्षेत्र नहीं हैं, बल्कि यहां से उनका पीढ़ी दर पीढ़ी भावनात्मक लगाव भी है।  

सोनिया गांधी की बात का जनता ने रखा मान
सोनिया गांधी ने लोकसभा चुनाव के दौरान रायबरेली की जनता को अपना बेटा सौंपने की बात कही थी। जनता ने इसका मान रखा और राहुल गांधी 390030 मतों से जीत हासिल करने में सफल रहे। उन्होंने भाजपा के दिनेश प्रताप सिंह को हराया। वहीं अमेठी में किशोरी लाल शर्मा ने स्मृति ईरानी को 167196 मतों से शिकस्त दी। 

रायबरेली की छह विधानसभा सीटों की स्थिति 
रायबरेली की छह विधानसभा सीटों में बछरावां, हरचंदपुर, रायबरेली सदर, सरेनी, ऊंचाहार और सलोन हैं। यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में यहां कांग्रेस का प्रदर्शन बेहद खराब रहा। पार्टी एक भी सीट जीतने में सफल नहीं हुई। तीन सीट पर तो उसके उम्मीदवार अपनी जमानत तक नहीं बचा सके। यहां 4 सीटों पर सपा और 2 सीटों पर भाजपा ने जीत हासिल की।

विधानसभा चुनाव 2022 की स्थिति
बछरावां विधानसभा क्षेत्र से सपा के श्याम सुंदर, हरचंदपुर विधानसभा क्षेत्र से सपा के राहुल राजपूत, रायबरेली विधानसभा से भाजपा की अदिति सिंह, सलोन विधानसभा सीट से भाजपा के अशोक कुमार, सरेनी विधानसभा सीट से सपा के देवेंद्र प्रताप सिंह और ऊंचाहार विधानसभा क्षेत्र से सपा के मनोज कुमार पांडेय मैदान ने जीत हासिल की। बाद में मनोज पांडेय भाजपा में शामिल हो गए।

अमेठी में 2022 में कांग्रेस का प्रदर्शन 
अमेठी जनपद की बात करें तो यहां चार विधानसभा सीट तिलोई, जगदीशपुर (एससी), गौरीगंज और अमेठी हैं। विधानसभा चुनाव 2022 में यहां कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला। भाजपा और समाजवादी पार्टी 2-2 सीटों पर जीत हासिल करने में सफल हुई। 

लोक सभा चुनाव में बदला माहौल
अमेठी सीट पर सपा नेता महाराजी प्रजापति, तिलोई विधानसभा सीट से भाजपा के मंयकेश्वर सिंह, जगदीशपुर विधानसभा सीट से भाजपा के सुरेश कुमार और गौरीगंज सीट से सपा के राकेश प्रताप सिंह ने जीत हासिल की। लोकसभा चुनाव में महाराजी प्रजापति और राकेश प्रताप सिंह ने भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी के पक्ष में खड़े होकर माहौल बनाने का प्रयास किया। लेकिन, मतदाताओं ने किशोरी लाल शर्मा पर ही भरोसा जताया।

कांग्रेस की रणनीति
कांग्रेस लोकसभा चुनाव में जीत के बाद उत्तर प्रदेश विशेष तौर पर रायबरेली और अमेठी की 10 विधानसभा सीटों पर फोकस करना चाहती है। पार्टी नेताओं को यकीन है कि दोनों लोकसभा सीटों पर जीत के बाद इन जनपदों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं में उत्साह है और यूपी विधानसभा चुनाव 2027 में पार्टी इन सीटों पर वापसी करने में सफल होगी। इसलिए कार्यकर्ताओं का आभार जताने के साथ गांधी परिवार अपनी सियासी जमीन सींचने की कोशिश करेगा। 

गांधी परिवार गढ़ में रहेगा सक्रिय
विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की आने वाले दिनों में क्षेत्र में सक्रियता अधिक देखने को मिल सकती है। अमेठी से लोकसभा चुनाव 2019 हारने के बाद राहुल गांधी ने इस ओर रुख नहीं किया। लेकिन, अब रायबरेली के सांसद और अमेठी में गांधी परिवार के करीबी किशोरी लाल की जीत के बाद माना जा रहा कि यूपी में उनका फोकस होगा। खास तौर पर सपा के साथ की बदौलत कांग्रेस के प्रदर्शन में जिस तरह सुधार देखने को मिला है, उससे राजनीतिक विश्लेषक तय मान रहे हैं कि विधानसभा चुनाव 2027 में भी कांग्रेस सपा का साथ नहीं छोड़ेगी। संगठन के मामले में सपा उससे कहीं ज्यादा मजबूत है। 

अखिलेश यादव बोले- 'कुछ चुनाव नक्शा बदल देते हैं'
इस बीच सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को यूपी की 80 लोकसभा सीट के आंकड़ों का हवाला देते हुए सोशल मीडिया एक्स पर लिखा, 'कुछ चुनाव नक्शा बदल देते हैं।' इसमें उन्होंने लोकसभा चुनाव 2024 के आंकड़ों को दर्शाया कि भाजपा को 33 सीटें (41.5 प्रतिशत), सपा को 37 सीटें (33.6 प्रतिशत), कांग्रेस को 6 सीटें (9.5 प्रतिशत) और अन्य को 4 सीटें मिली। इससे पहले जब 2019 में सपा-बसपा ने मिलकर चुनाव लड़ा था, तब भाजपा को 62 सीटें (50 प्रतिशत), सपा को 5 सीटें (18.1 प्रतिशत), कांग्रेस को 1 सीट (19.4 प्रतिशत) और अन्य को 2 सीटें मिली। 

Also Read

स्क्रैप ठेकेदार की साहस देखकर सब दंग, अधिकारी-कर्मचारी लिए गए हिरासत में

14 Jun 2024 10:45 PM

लखनऊ सीबीआई का रेलवे भंडारण विभाग पर छापा : स्क्रैप ठेकेदार की साहस देखकर सब दंग, अधिकारी-कर्मचारी लिए गए हिरासत में

गुरुवार को ठेकेदार स्क्रैप माल लेने के लिए रेलवे स्टोर पहुंचा था। इस दौरान, डीएसके के पद पर तैनात अविरल कुमार ने ठेकेदार से रिश्वत मांगी। ठेकेदार ने जैसे ही रिश्वत की रकम दी, सीबीआई ने अविरल कुमार को रंगे हाथों पकड़ लिया। और पढ़ें