उच्च न्यायालय का फैसला : कुख्यात गैंगस्टर के शार्प शूटर लॉरेंस यूसुफ की जमानत याचिका मंजूर

कुख्यात गैंगस्टर के शार्प शूटर लॉरेंस यूसुफ की जमानत याचिका मंजूर
UPT | हाईकोर्ट

Jul 12, 2024 02:09

कुख्यात राजेश टोटा गिरोह के शार्प शूटर और 50,000 रुपये के इनामी अपराधी लॉरेंस यूसुफ उर्फ बॉस की जमानत याचिका मिली मंजूरी...

Jul 12, 2024 02:09

Short Highlights
  • कुख्यात गैंगस्टर के शार्प शूटर लॉरेंस यूसुफ की जमानत याचिका मंजूर
  • 25 लाख रुपये की रंगदारी मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था
  •  एक बिल्डर संजीव रावत द्वारा शिकायत दर्ज कराई गई थी
Hathras News : इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने कुख्यात राजेश टोटा गिरोह के शार्प शूटर और 50,000 रुपये के इनामी अपराधी लॉरेंस यूसुफ उर्फ बॉस की जमानत याचिका को मंजूरी दे दी है। यह निर्णय न्यायमूर्ति समीर जैन की अदालत द्वारा लिया गया, जिन्होंने लॉरेंस की ओर से दायर की गई जमानत याचिका मंजूर कर ली।


इस मामले में हुई थी गिरफ्तारी
लॉरेंस यूसुफ, जो पिछले साल 4 नवंबर से जेल में बंद था, एक प्रमुख बिल्डर के भाई से 25 लाख रुपये की रंगदारी मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। उत्तर प्रदेश के विशेष कार्य बल (एसटीएफ) और आगरा पुलिस की संयुक्त टीम ने उसे राजस्थान के भरतपुर से गिरफ्तार किया था। अपनी पहचान छिपाने के लिए, वह एक ट्रक चालक के रूप में काम कर रहा था।

ये भी पढ़ें : हाईकोर्ट का सख्त रुख : धर्म परिवर्तन से इनकार पर महिला का सिर काटने वाले को जमानत नहीं

जमीन के नाम पर मांगी थी रंगदारी
मामले की जड़ें हरिपर्वत थाना क्षेत्र के एक बिल्डर संजीव रावत द्वारा शिकायत दर्ज कराई गई थी। रावत ने आरोप लगाया था कि लॉरेंस ने उनके भाई अशोक रावत से जमीन छोड़ने के बदले में रंगदारी की मांग की थी। यह जमीन हाथरस में स्थित है और 2020 में अशोक रावत के नाम पर पंजीकृत की गई थी। इस मामले में कई अन्य लोग भी शामिल हैं, जिनमें मथुरा जेल की गैंगवार में मारे गए कुख्यात अपराधी राजेश शर्मा उर्फ टोटा की पत्नी कनक शर्मा और उनका बेटा राज भी शामिल हैं। लॉरेंस यूसुफ के कब्जे से पुलिस ने एक ड्राइविंग लाइसेंस और एक आधार कार्ड बरामद किया था, जो उसकी पहचान छिपाने के लिए इस्तेमाल किए जा रहे थे।

ये भी पढ़ें  : सहारनपुर की SDM को फोन पर धमकी : देवरिया वाला हूं... मेरा काम हो जाना चाहिए वरना...

लॉरेंस ने कबूल किया था अपना अपराध
लॉरेंस ने दावा किया था कि विवादित जमीन वास्तव में राजेश टोटा की पत्नी कनक शर्मा की है। इस आधार पर, उसने रावत परिवार से 25 लाख रुपये की हिस्सेदारी की मांग की थी। यह मामला और भी जटिल हो गया जब यह खुलासा हुआ कि लॉरेंस यूसुफ पहले केंद्रीय कारागार में बंद था। वहां से उसने कथित तौर पर बिल्डर की हत्या की साजिश रची और उसे जान से मारने की धमकी दी। इस घटना के बाद, आगरा के हरिपर्वत थाने में लॉरेंस यूसुफ, कनक शर्मा और राज के खिलाफ एक अलग मुकदमा दर्ज किया गया।

ये भी पढ़ें : डिफेंस इंडस्ट्री की आत्मनिर्भरता में यूपी बनेगा मजबूत आधार : लखनऊ और कानपुर में स्थापित होंगे तीन प्रोजेक्ट, 117 करोड़ खर्च करेगी सरकार

ऐसे हुई थी कुख्यात राजेश टोटा की हत्या
10 सितंबर 2014 को मेरठ के बृजेश मावी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद 2015 में मथुरा जेल में एक भीषण गैंगवार हुई, जिसमें आगरा का कुख्यात अपराधी अक्षय सोलंकी मारा गया और राजेश उर्फ टोटा सहित तीन अन्य लोग घायल हुए। उसी रात, जब राजेश टोटा को उपचार के लिए आगरा ले जाया जा रहा था, उसकी हाईवे पर गोली मारकर हत्या कर दी गई।

Also Read

खैर और जट्टारी में फोरलेन बाईपास बनेगा, किसानों को मिलेगा चौगुना मुआवजा

20 Jul 2024 03:59 PM

अलीगढ़ अलीगढ़-पलवल हाईवे पर बड़ी राहत : खैर और जट्टारी में फोरलेन बाईपास बनेगा, किसानों को मिलेगा चौगुना मुआवजा

अलीगढ़-पलवल राज्यमार्ग पर लंबे समय से चली आ रही यातायात की समस्या का समाधान जल्द ही होने वाला है। खैर और जट्टारी कस्बों में फोरलेन बाईपास के निर्माण की योजना को हरी झंडी मिल गई है। और पढ़ें