advertisements
advertisements

गाजियाबाद में HRIT विश्वविद्यालय को मंजूरी : योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट में हुआ फैसला, बरेली में भी खुलेगी फ्यूचर यूनिवर्सिटी

योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट में हुआ फैसला, बरेली में भी खुलेगी फ्यूचर यूनिवर्सिटी
UPT | गाजियाबाद में HRIT विश्वविद्यालय को मंजूरी

Jun 11, 2024 15:36

मंगलवार को लखनऊ में योगी कैबिनेट की मीटिंग हुई, जिसमें 41 प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। इसमें गाजियाबाद में HRIT और बरेली में फ्यूचर विश्वविद्यालय खोले जाने का भी प्रस्ताव है।

Jun 11, 2024 15:36

Ghaziabad News : लोकसभा चुनाव 2024 खत्म होने के बाद आचार संहिता हट चुकी है। अब उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार बैक टू बैक कई बड़े फैसले ले रही है। मंगलवार को लखनऊ में योगी कैबिनेट की मीटिंग हुई, जिसमें 41 प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। इसमें गाजियाबाद में HRIT और बरेली में फ्यूचर विश्वविद्यालय खोले जाने का भी प्रस्ताव है।

गाजियाबाद को मिलेगी यूनिवर्सिटी
HRIT ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन गाजियाबाद में नेशनल हाईवे 58 पर स्थित है। करी 22.5 एकड़ में फैले इस कॉलेज ने विश्वविद्यालय से जुड़े सभी मानक पूरे कर लिए हैं। ऐसे में यूपी सरकार ने कॉलेज को विश्वविद्यालय का दर्जा देने का निर्णय लिया है। HRIT ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन के चेयरमैन अनिल अग्रवाल हैं।

बरेली में भी फ्यूचर यूनिवर्सिटी
इसके अलावा राज्य सरकार ने बरेली के फ्यूचर ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट को भी यूनिवर्सिटी का दर्जा देने का निर्णय लिया है। इस कॉलेज में फिलहाल 15 हजार से ज्यादा छात्र-छात्राएं पढ़ते हैं। 15 साल से अधिक समय से शैक्षणिक गतिविधियों में जुटा है। उत्तर प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री ने बताया कि गाजियाबाद के HRIT और बरेली के फ्यूचर कॉलेज ने विश्वविद्यालय से जुड़े सभी मानक पूरे कर लिए हैं।

इस विश्वविद्यालय का नाम बदला
उच्च शिक्षा मंत्री योगेंद्र उपाध्याय ने बताया कि राज्य सरकार की कोशिश निजी विश्वविद्यालय को प्रमोट करना और हर मंडल में एक सरकारी विश्वविद्यालय की स्थापना करना है। वहीं राज्य विश्वविद्यालय के नाम से राज्य शब्द हटा दिया गया है। इसके अलावा मुरादाबाद विश्वविद्यालय का नाम गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय कर दिया गया है। 

Also Read

नेत्र रोग विभाग में दी रेटिना बीमारी के बारे में जानकारी, जाने क्या है रेटिनाइटिस पिगमेंटोसा

13 Jun 2024 07:40 PM

मेरठ LLRM Meerut : नेत्र रोग विभाग में दी रेटिना बीमारी के बारे में जानकारी, जाने क्या है रेटिनाइटिस पिगमेंटोसा

ये अंधे धब्बे परिधीय दृष्टि को कम करने में प्रगति करते हैं। यह रोग समय के साथ बढ़ता है और अंततः केंद्रीय दृष्टि को प्रभावित करता है, जो पढ़ने, ड्राइविंग और चेहरों को पहचानने जैसे कार्यों के लिए आवश्यक है। और पढ़ें