Pratapgarh News : प्रियंका पांडेय ने कहा -निःस्वार्थ भगवान का सुमिरन जीवन के लिए सुखदायी, रामनाम ही एक मात्र सहारा

प्रियंका पांडेय ने कहा -निःस्वार्थ भगवान का सुमिरन जीवन के लिए सुखदायी, रामनाम ही एक मात्र सहारा
UPT | प्रियंका पांडेय।

Jun 11, 2024 01:59

जिले के सांगीपुर क्षेत्र के लखहरा में पांच दिवसीय सामूहिक श्रीराम कथा में काशी से पधारीं कथावाचिका प्रियंका पाण्डेय के श्रीराम केवट संवाद को सुनकर श्रद्धालु भावविभोर हो उठे। मानस गंगा प्रियंका पाण्डेय ने...

Jun 11, 2024 01:59

Pratapgarh News : जिले के सांगीपुर क्षेत्र के लखहरा में पांच दिवसीय सामूहिक श्रीराम कथा में काशी से पधारीं कथावाचिका प्रियंका पांडेय के श्रीराम केवट संवाद को सुनकर श्रद्धालु भावविभोर हो उठे। मानस गंगा प्रियंका पांडेय ने कहा कि केवट का भगवान श्रीराम के प्रति निःस्वार्थ समर्पण का भाव था। उन्होंने कहा कि भगवान भक्त के भाव के ही भूखे हुआ करते हैं। उन्होंने कहा कि भाव से भगवान को तुलसीदल और गंगाजल अर्पित कर मनुष्य प्रभु की कृपा का मंगलफल प्राप्त किया करता है। उन्होंने कहा कि मां गंगा भगवान की सुपुत्री हैं और मां जानकी साक्षात भगवती के रूप में भक्तों के लिए सुखदायी है।

दुख भवसागर से पार होने का रामनाम ही एक मात्र सहारा
कथा को आगे बढ़ाते हुए आजमगढ़ से पधारीं पं. गोविन्द शास्त्री ने श्रीराम रावण युद्ध को लेकर श्री लक्ष्मण की मूर्क्षा में संत हनुमन्त के प्रभु के समर्पण से जुडी मनमोहक कथा का वर्णन किया। उन्होंने कहा कि संसार में सुख हो या दुख भवसागर से पार होने का एक मात्र सहारा रामनाम ही है। पं. गोविन्द शास्त्री ने कहा कि हनुमान जी ने कालिनेम के छद्म का वध किया। उन्होंने बताया कि कालिनेम भी अंतिम सांस छोड़ने के पहले श्रीराम का नाम लेने मात्र से मोक्ष का सुखदायी हुआ। उन्होंने बताया कि रावण की दस हजार अमर सेना और उसका पुत्र अकम्पन भी हनुमान को श्रीराम के अनुराग की शक्ति के सामने संजीवनी बूटी ले आने से रोक नहीं सका।

ये लोग रहे मौजूद
कथा का संयोजन समाजसेवी प्रभंजन सिंह व डॉ. निरंकार सिंह तथा संचालन राकेश प्रताप सिंह ने किया। इस मौके पर अशोकधर द्विवेदी, डॉ. अर्चना सिंह, राममिलन शुक्ल, डॉ. शशिबाला सिंह, सीमा सिंह, शीला सिंह, सतीश उपाध्याय, अजीत मिश्र, दिनेश सिंह, ज्ञानप्रकाश शुक्ल, प्रेमचंद्र पाण्डेय, विकास मिश्र, अमित केसरवानी, विनयचंद्र परिहार, विक्रम सिंह, लक्ष्मी सिंह आदि रहे।

Also Read

पीसीएस जे मुख्य परीक्षा पर आयोग का बड़ा फैसला, दिखाई जाएगी अभ्यर्थियों को कॉपियां, ताकि दूर हों आशंकाए

15 Jun 2024 07:09 AM

प्रयागराज PCS J Mains Exam 2022 case : पीसीएस जे मुख्य परीक्षा पर आयोग का बड़ा फैसला, दिखाई जाएगी अभ्यर्थियों को कॉपियां, ताकि दूर हों आशंकाए

आयोग 3019 अभ्यर्थियों को उत्तर पुस्तिकाएं दिखाने का निर्णय लिया है। ताकि सभी तरह की आशंकाए दूर की जा सकें। बता दें कि उत्तर पुस्तिकाएं अभियान चलाकर 20 जून से 30 जुलाई तक दिखाई जाएंगी। और पढ़ें